Jan Sandesh Online hindi news website

सस्ता हुआ होम और ऑटो लोन, SBI के अलावा इन 3 बैंकों ने घटाई ब्याज दरें

ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (ओबीसी), बैंक ऑफ महाराष्ट्रव और आईडीबीआई बैंक ने ब्याज दरों में कटौती की है। इन बैंकों ने विभिन्न अवधि के कर्ज पर ब्याज दरें (MCLR) 0.05 फीसदी से 0.15 फीसदी तक कम की है। 

अगर आप होम या ऑटो लोन लेने के बारे में सोच रहे हैं तो ये खबर आपके काम की हो सकती है। रिजर्व बैंक (RBI) ने हाल में रेपो रेट और रिवर्स रेपो रेट में कटौती की थी जिसके बाद एसबीआई बैंक (SBI Bank) और अन्य तीन बैंकों ने ब्याज दरों में कटौती की है। ये ब्याज दरें सभी पुराने और नए लोन पर लागू होंगी। इससे आपकी ईएमआई (EMI) सस्ती हो जाएगी।

इन तीन बैंकों ने घटाई ब्याज दरें
ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (ओबीसी), बैंक ऑफ महाराष्ट्रव और आईडीबीआई बैंक ने ब्याज दरों में कटौती की है। इन बैंकों ने विभिन्न अवधि के कर्ज पर ब्याज दरें (MCLR) 0.05 फीसदी से 0.15 फीसदी तक कम की है।

और पढ़ें
1 of 38
  • आईडीबीआई बैंक ने एक साल की अवधि वाले कर्ज पर एमसीएलआर को 0.10 फीसदी कम करके 8.95 फीसदी कर दिया है। तीन महीने से 3 साल के लिए ब्याज दरों में 0.05 से 0.15 फीसदी की कटौती की है। हालांकि एक दिन और एक महीने वाले कर्ज पर ब्याज दरों में कोई कटौती नहीं की है। ये नई दरें 12 अगस्त से लागू होगी।

  • ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स ने अलग-अलग अवधी के कर्ज पर एससीएलआर 0.10 फीसदी कम कर दिया है। अब कर्ज की दरें 0.10 फीसदी घटकर 8.55 फीसदी पर आ गई हैं। ये नई दरें 10 अगस्त से लागू होंगी।

  • बैंक ऑफ महाराष्ट्र  ने एक साल की ब्यानज दर 8.50 फीसदी कर दी है।

आरबीआई ने द्विमासिक मौद्रिक समीक्षा बैठक में रेपो रेट में 35 बेसिस प्वाइंट की कटौती की थी जिसके बाद रेपो दर घटकर 5.40% पर आ गई है। आरबीआई के रेपो रेट घटाने के बाद एसबीआई समेत कई बैंक ने ब्याज दरों में कटौती की। आरबीआई ने रेपो रेट के अलावा वहीं रिवर्स रेपो रेट (Reverse Repo Rate) 5.15 फीसदी कर दिया है।

 

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.