Jan Sandesh Online hindi news website

Raksha Bandhan 2019 : नहीं होगा इस बार यह दोष, राखी पर बन रहे हैं कई खास संयोग

इस साल रक्षाबंधन का त्योहार कई मायनों में खास रहने वाला है। इस बार रक्षाबंधन पर भद्रा का साया नहीं रहेगा। ज्योतिषाचार्य मदन गोपाल तिवारी ने बताया कि कई साल बाद इस दिन भद्रा का साया नहीं है। भद्राकाल के दौरान शुभ कार्य नहीं किए जाते इसलिए इस बार राखी बांधने के शुभ मुहूर्त को लेकर बहनों को परेशान होने की जरूरत नहीं है।

हर साल श्रावण मास की पूर्णिमा को रक्षाबंधन का त्योहार मनाया जाता है। इस दिन बहनें अपने भाई की कलाई में रक्षासूत्र बांधकर उसकी लंबी उम्र और सुख की कामना ईश्वर से करती हैं तो वहीं भाई अपनी बहन को उसकी रक्षा का वचन देता है। इस साल यह त्योहार 15 अगस्त को मनाया जाएगा।

नहीं है भद्रा का साया
इस साल रक्षाबंधन का त्योहार कई मायनों में खास रहने वाला है। इस बार रक्षाबंधन पर भद्रा का साया नहीं रहेगा। ज्योतिषाचार्य मदन गोपाल तिवारी ने बताया कि कई साल बाद इस दिन भद्रा का साया नहीं है। भद्राकाल के दौरान शुभ कार्य नहीं किए जाते इसलिए इस बार राखी बांधने के शुभ मुहूर्त को लेकर बहनों को परेशान होने की जरूरत नहीं है।

और पढ़ें
1 of 50

बन रहे कई शुभ संयोग
इसके आलावा राखी पर इस बार कई शुभ संयोग भी बन रहे हैं। रक्षाबंधन 2019 के दिन श्रावण नक्षत्र, सौभाग्य योग, सूर्य का कर्क राशि में प्रवेश और चंद्रमा मकर राशि में रहेगा। इसके अतिरिक्त रक्षाबंधन के चार दिन पहले गुरु मार्गी होंगे यानि सीधी चाल चलेंगे। इस बार रक्षाबंधन गुरुवार के दिन पड़ने से बेहद शुभ संयोग बनेगा।

रक्षाबंधन का शुभ मुहूर्त
ज्योर्तिविद पंडित दिवाकर त्रिपाठी पूर्वांचली के अनुसार पूर्णिमा तिथि 14 अगस्त, बुधवार को दिन में 2:47 बजे से शुरू होगी जो 15 अगस्त की शाम 4:23 बजे तक रहेगी। राहुकाल दिन में 1:30 बजे से दोपहर 3 बजे है। इसलिए राहुकाल के समय को छोड़कर शुभ मुहूर्त में रक्षाबंधन बांधना मंगलकारी रहेगा।

 

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

%d bloggers like this: