Jan Sandesh Online hindi news website

कुशीनगर में कार्रवाई की बजाय दुष्कर्म पीड़िता समेत मामा को धमकाती रही कुबेरस्थान की पुलिस

पडरौना,कुशीनगर : जिले के कुबेरस्थान थाना क्षेत्र में बीते मंगलवार को एक किशोरी के साथ हुए गैंगरेप के मामले में तहरीर के आधार पर पुलिस ने शुक्रवार को आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया। इस मामले में दोनों आरोपियों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। आरोप है कि इस मामले में मुकदमा दर्ज न कराने के लिए हल्के के दो सिपाही पीड़ित किशोरी और उसके मामा को धमकाते रहे।

 

अपनी मां की मौत के बाद 14 वर्षीय किशोरी काफी दिनों से अपने ननिहाल में रहती है। बीते मंगलवार की शाम वह खेत की तरफ गई थी। आरोप है कि गांव के ही दो युवकों ने उसके साथ दुष्कर्म किया। गुरुवार को जब किशोरी के ननिहाल वाले घटना का पता चला तो किशोरी को साथ लेकर थाने में न्याय मांगने पहुंच गए। इस दौरान वहां मौजूद हल्के के दो सिपाही सरेआम किशोरी से यह पूछने लगे कि तुम्हारे साथ क्या हुआ है। शर्मसार किशोरी ने उन्हें आपबीती बताई तो उसे दोनों सिपाही धमकाने लगे। इसके बाद दोनों सिपाहियों ने किशोरी के मामा पर दबाव बनाया कि उससे पूछो कि उसके साथ क्या हुआ है।
और पढ़ें
1 of 211
‘‘डॉयल 100 पर पहली सूचना छेड़खानी की ही मिली थी। बाद में तहरीर गैंगरेप की दी गई, जिसके आधार पर दोनों आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उन्हें हिरासत में ले लिया गया है।’’
नितेश प्रताप सिंह, सीओ सदर-पडरौना
आरोप है कि सिपाहियों ने किशोरी के मामा पर दबाव बनाकर अपनी मनमर्जी से एक होमगार्ड को 50 रुपये दिलवाकर छेड़खानी का तहरीर लिखवाया। देर शाम तक मामा अपनी पीड़ित भांजी को लेकर थाने में ही बैठा रहा, लेकिन उनकी कोई सुनवाई नहीं हुई। बाद में दोनों बिना कार्रवाई के वापस घर लौट आए। मामला जब एसपी के संज्ञान में पहुंचा तब पुलिस देर रात को हरकत में आ गई। शुक्रवार की सुबह किशोरी के ननिहाल पहुंची पुलिस ने घटना के बारे में जानकारी ली। इसके बाद दूसरी तहरीर लेकर कुबेरस्थान पुलिस ने दोनों आरोपियों के खिलाफ गैंगरेप का मुकदमा दर्ज कर उन्हें हिरासत में ले लिया।
Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.