Jan Sandesh Online hindi news website

पीएम मोदी के साथ चंद्रयान मिशन देखने का मौका 10 मिनट में 20 सवालों का जवाब देकर

चंद्रयान मिशन की सफलता पर इसरो की ओर ऑनलाइन अंतरिक्ष क्विज प्रतियोगिता शुरू की जा रही है। इस प्रतियोगिता के विजेता बच्चे पीएम मोदी के साथ बैठकर चंद्रयान-2 को चांद पर उतरते हुए देख सकेंगे। क्विज प्रतियोगिता शुक्रवार (9 अगस्त) की रात 12 बजे से शुरू होकर 20 अगस्त तक चलेगी।

mygov.in पर जाकर क्विज में कर सकते हैं भागीदारी

और पढ़ें
1 of 1,025

1.अंतरिक्ष प्रोग्राम पर जागरूकता के लिए इस क्विज का आयोजन mygov.in के साथ मिलकर इसरो कर रहा है। इसलिए सबसे पहले mygov.in पर जाकर अपना एकाउंट बनाना होगा। एक काउंटर को केवल एक बार ही क्विज में भागीदारी का मौका मिलेगा।

2.दस मिनट यानी 600 सेकेंड में 20 सवालों का जवाब देना होगा। जैसे ही स्टार्ट बटन दबाएंगे समय शुरू हो जाएगा। एक बार क्विज शुरू होने के बाद उसे पॉज नहीं किया जा सकता है।

3.अगर किसी सवाल का जवाब नहीं आता तो उसे छोड़कर आगे बढ़ सकते हैं। बाद में छोड़े गए सवाल पर दोबारा भी लौटा जा सकता है।

4.सबसे कम समय में सबसे ज्यादा सही जवाब देने वाले ही क्विज के विजेता होंगे। अगर बराबर समय अौर अंक वाले छात्रों की संख्या ज्यादा हुई तो उनका चुनाव कंप्यूटर की मदद से लकी ड्रा की तरह किया जाएगा।

5.सबसे ज्यादा अंक हासिल करने वाले हर प्रदेश के दो-दो छात्रों (कक्षा 8 से 10 तक) को इसरो के बंगलोर स्थित सेंटर पर बुलाया जाएगा। जहां वह पीएम मोदी के साथ बैठकर चंद्रयान-2 को चंद्रमा पर उतरते देख सकेंगे।

6.क्विज का समय खत्म होने रिजल्ट की घोषणा से पहले शार्ट लिस्ट किये गए छात्रों को अपने माता-पिता का नाम लिखा एड्रेस प्रूफ अौर हलफनामा के साथ स्कूल से जारी प्रमाण पत्र  जमा करना होगा। हलफनामा का फार्मेट भी शार्ट लिस्ट किये गए छात्रों से शेयर किया जाएगा।

7.इसरो ने क्विज में भाग लेने वाले बच्चों के माता-पिता से उम्मीद की है कि वह सवालों का जवाब देने के लिए अपने बच्चों की मदद नहीं करेंगे। वह केवल सवाल नहीं समझ आने या उसके अनुवाद में मदद करें।

8.क्विज में भाग लेने वाले सभी प्रतियोगियों को सर्टिफिकेट भी दिया जाएगा। यह सर्टिफिकेट वेबसाइट के डाउनलोड सेक्शन से डाउनलोड किया जा सकता है।

 

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.