Jan Sandesh Online hindi news website

DLW कर्मचारियों ने निगमीकरण के खिलाफ जुटाया हुजूम, भरी हुंकार

आल इंडिया प्रोग्रेसिव वूमेन एसोसिएशन की प्रदेश सचिव कुसुम वर्मा ने कहा कि भारत सरकार के इस प्रस्ताव से जितना नुकसान पुरुष कर्मचारियों का होगा, उससे ज्यादा महिला कर्मचारियों को। डीरेका बचाओ संघर्ष समिति के साथ महिला कर्मचारी भी समानांतर आंदोलन चलाती रहेंगी। बैंक इम्प्लाइज फेडरेशन ऑफ इंडिया के शिवनाथ यादव ने कहा कि जिस तरह से 50 दिन से डीरेकाकर्मी आंदोलन कर रहे हैं, उनके साहस को देखते हुए कई संगठन समर्थन में आ गए हैं। कई समर्थन देने के लिए तैयार हैं।

डीरेका के निगमीकरण के प्रस्ताव के खिलाफ शुक्रवार को अगस्त क्रांति के दिन कर्मचारियों ने कई संगठनों के साथ मिलकर बिगुल फूंका। शाम चार बजे पूर्वी गेट से हजारों कर्मचारी जुलूस निकालते हुए प्रशासनिक भवन के सामने मुख्य सड़क पर स्थित सभा स्थल तक पहुंचे। मुख्य वक्ता नेशनल मूवमेंट फार ओल्ड पेंशन स्कीम के अध्यक्ष विजय कुमार बंधु पहले नौकरियां बचाने की जरूरत है। नौकरी रहेगी, तभी पुरानी पेंशन भी पाएंगे।

कहा कि रेलवे, शिक्षा, पीडब्ल्यूडी, बिजली, बैंक, एलआईसी को लेकर सरकार नित नए फरमान जारी कर रही है। नौकरियां सुरक्षित नहीं रह गई हैं। आने वाले पीढ़ियों के बारे में सोचें। रोजगार सृजन नहीं हो रहा है, बल्कि रोजगार छीना जा रहा है। सरकारी और गैर सरकारी उपक्रमों में पूंजीपतियों का निवेश बढ़ता जा रहा है। सरकार प्रस्ताव वापस नहीं लेती है तो इसके खिलाफ हर महकमा एक साथ आंदोलन करेगा।

और पढ़ें
1 of 366
आल इंडिया प्रोग्रेसिव वूमेन एसोसिएशन की प्रदेश सचिव कुसुम वर्मा ने कहा कि भारत सरकार के इस प्रस्ताव से जितना नुकसान पुरुष कर्मचारियों का होगा, उससे ज्यादा महिला कर्मचारियों को। डीरेका बचाओ संघर्ष समिति के साथ महिला कर्मचारी भी समानांतर आंदोलन चलाती रहेंगी। बैंक इम्प्लाइज फेडरेशन ऑफ इंडिया के शिवनाथ यादव ने कहा कि जिस तरह से 50 दिन से डीरेकाकर्मी आंदोलन कर रहे हैं, उनके साहस को देखते हुए कई संगठन समर्थन में आ गए हैं। कई समर्थन देने के लिए तैयार हैं।

ऑल इंडिया यूनाइटेड विश्वकर्मा शिल्पकार महासभा के अध्यक्ष अशोक कुमार विश्वकर्मा ने कहा, निजीकरण के खिलाफ पूरा समाज संघर्ष समिति के साथ खड़ा है। एक्टू के जिला सचिव मनीष कुमार ने कहा कि इस लड़ाई को मजबूती से लड़ा जाएगा। डीरेका बचाओ संयुक्त संघर्ष समिति के संयोजक वीडी दुबे ने सभी का आभार जताया। कहा कि सरकार की गलत नीतियों के खिलाफ शहर में नुक्कड़- नाटक होगा। संचालन कर्मचारी परिषद के सदस्य प्रदीप यादव ने किया।

जनसभा में धर्मराज, कर्मचारी परिषद के सदस्य नवीन सिन्हा, विनोद सिंह, सुशील सिंह, कृष्ण मोहन तिवारी, नरेन्द्र मिश्र, राकेश पांडेय, राजेंद्र पाल, राजेश कुमार, सरदार सिंह, हरिशंकर यादव, अमित कुमार, डीएन भट्ट, राधा बल्लभ त्रिपाठी, पद्मकान्त पाठक, अमित कुमार, डीएन भट्ट, अश्वनी यादव, रंग बहादुर, शशि भूषण तिवारी, इंद्रेश, रूप सिंह मीणा, धर्मेंद्र सिंह, रामायण यादव, देवतानन्द तिवारी, रानी यादव, ममता सिंह, दुर्गा, एम भावना, विनीता तिवारी, आशुतोष श्रीवास्तव आदि लोग उपस्थित थे।

काला झंडा लेकर निकाला जुलूस
वाराणसी। कारखाने के पूर्वी गेट पर इकट्ठा हुए कर्मचारी काले झंडे के साथ जुलूस में शामिल हुए। करीब पांच सौ मीटर की दूरी घंटे भर में पूरी हुई। जनसभा में कर्मचारियों के अलावा उनके परिवार के सदस्य भी शामिल रहे। प्रशासनिक भवन के कर्मचारियों ने भी भाग लिया।

 

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.