Jan Sandesh Online hindi news website

पुलिस एनकाउंटर से खौफजदा हैं अपराध कर्मी

परिवार के लोग ही वांछित बदमाशों को थाने लेकर सिपुर्द कर रहे

कमलेश कुमार चौधरी की रिपोर्ट

कानपुर । बदमाशों और उनके परिवारीजनों में पुलिस के ‘हाफ एनकाउंटर’ का खौफ नजर आने लगा है। सात महीने में 70 से अधिक बदमाशों के पैर में गोली मारकर पकडऩे और 100 से अधिक बदमाशों की गिरफ्तारी के बाद परिवार के लोग ही वांछित बदमाशों को थाने लेकर सिपुर्द कर रहे हैं। ऐसा ही मामला बिधनू थाने में देखने को मिला, जब 25 हजार के इनामी लुटेरे को लेकर उसके पिता परिवार के अन्य सदस्यों, ग्राम प्रधान और ग्रामीणों के साथ पहुंचे और उसका आत्मसमर्पण कराया। लुटेरे ने थानेदार से कहा, ‘साहब! मुझे लंगड़ा नहीं होना, जेल भेज दो।’

और पढ़ें
1 of 19

सचेंडी थाने के छत्तापुरवा का निवासी शातिर लुटेरा नारायण उर्फ लाला बिधनू में स्कूटी लूट में वांछित था। उसने एक सप्ताह पहले शहर के टॉप टेन अपराधियों में शामिल धर्मेंद्र उर्फ पïट्टू और राहुल उर्फ शेरा के साथ मिलकर स्कूटी लूटी थी। दो अगस्त को तीनों फिर लूट के इरादे से किसान नगर से बिधनू नहर की ओर आ रहे थे, तभी पुलिस से मुठभेड़ हो गई थी। पïट्टू के पैर में गोली लगी थी, जबकि शेरा और लाला फरार हो गए थे। एसएसपी अनंतदेव ने दोनों पर 25-25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया। इसके बाद बिधनू पुलिस शेरा और लाला की गिरफ्तारी के लिए लगातार रिश्तेदारों के घर तक दबिश देने लगी।

चार अगस्त को बिधनू पुलिस ने मझावन चौकी के टिकरिया मोड़ के पास घेराबंदी कर शेरा को गिरफ्तार कर लिया। दोनों साथियों की गिरफ्तारी के बाद लाला के लिए पड़ रही दबिश से परिवारीजन दहशत में थे। पिता छोटे सिंह उर्फ बाबा उसे तलाश कर गुरुवार को घर ले आए। फिर शुक्रवार को आत्मसमर्पण करा दिया। बिधनू के थाना प्रभारी अनुराग सिंह ने बताया कि किसी भी अपराधी को न छोडऩे के कारण बदमाशों में पुलिस का खौफ बढ़ रहा है। शुक्रवार को परिवारीजनों ने शातिर लाला का थाने में आत्मसमर्पण कराया।

अब तक 70 से ज्यादा मुठभेड़

एसएसपी अनंतदेव के आने के बाद बीते सात महीने में करीब 70 मुठभेड़ हुईं। 70 बदमाशों के पैर में गोली लगी और सौ से अधिक बदमाश सलाखों के पीछे पहुंच चुके हैं। पुलिस का खौफ अब बदमाशों में दिखाई देने लगा।

पहले भी किया बदमाशों ने सरेंडर

शास्त्री नगर के छोटा सेंट्रल पार्क के पास देर रात ताबड़तोड़ फायङ्क्षरग कर दहशत फैलाने वाले हिमांशु ठाकुर ने भी इसी दहशत के चलते कोर्ट में आत्मसमर्पण किया था। रेडीमेड कारोबारी से दस लाख रुपये की रंगदारी मांगने वाले बजरिया थाने के हिस्ट्रीशीटर इजराइल आटे वाले ने भी तीन-चार दिन पूर्व कोर्ट में सरेंडर किया था। अब पुलिस के रडार पर इजराइल के भाई शमशुद्दीन के साथ शहर के 15 और बदमाश हैं।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

%d bloggers like this: