Jan Sandesh Online hindi news website

लगातार हो रही बारिश से जन-जीवन बुरी तरह प्रभावित

 कर्णप्रयाग: क्षेत्र में कई दिनों से लगातार हो रही बारिश से जन-जीवन बुरी तरह प्रभावित है। कर्णप्रयाग-बदरीनाथ सहित कर्णप्रयाग-रानीखेत पर सोमवार दिनभर पहाड़ियों से गिरते मलबे व विशालकाय पेड़ आने से आवाजाही अवरुद्ध रही, हांलाकि बीआरओ ने कर्णप्रयाग-ग्वालदम राजमार्ग पर गिरे पेड़ को हटाकर आवाजाही शुरू की, लेकिन कर्णप्रयाग-लंगासू-चमोली के मध्य कई स्थानों पर निर्माणाधीन सड़क व ऑलवेदर का आधा-अधूरा निर्माण कार्य नासूर बन गया है। गौचर-कर्णप्रयाग के मध्य गलनाऊं व चट्टवापील में पहाड़ी से सड़क के मलबे ने राजमार्ग को दलदल में तब्दील कर दिया है जबकि गौचर से लंगासू के मध्य राजमार्ग पर सबसे अधिक खराब स्थिति नगर क्षेत्र कर्णप्रयाग के सीएमपी बैंड से राजनगर व लंगासू तक हो रखी है। 20 से अधिक गढ्डे व उनमें भरा कीचड़ पैदल व दुपहिया वाहन चालकों के लिए चुनौती बने है और अब तक दो दर्जन से अधिक वाहन चालक रपट घायल हो चुके है, इस संबंध में कई बार एनएच अधिकारियों सहित स्थानीय प्रशासन को जानकारी दी,लेकिन स्थिति जस की तस है। इसी तरह कर्णप्रयाग-रानीखेत-सिमली मोटर मार्ग पर हनुमान मंदिर व मस्जिद परिसर से गिरता मलबा पैदल आवागमन व वाहनों के संचालन में हादसों को न्यौता दे रहा है।

बारिश से सोमवार दिनभर पिंडर व अलकनंदा नदियों का जलस्तर खतरे के निशान से उपर रहा। इस दौरान उपजिलाधिकारी कर्णप्रयाग देवानंद शर्मा ने संगम तट पर पूजा-अर्चना को पहुंचे श्रद्धालुओं से सुरक्षित रखने, सहित नदी तट से सटे आवासीय भवन में रहने वाले को सचेत रहने की सलाह दी।

और पढ़ें
1 of 6
Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.