Jan Sandesh Online hindi news website

कुशीनगर में जश्न ए आजादी के चलते पडरौना शहर में तिरंगे से सजी दुकानें

पडरौना,कुशीनगर :  देश की आजादी का जश्न मनाने के लिए जहां स्कूल, कालेजों में रिहर्सल अंतिम रूप में है। वहीं कुशीनगर जनपद के पडरौना बाजार में तिरंगे से दुकानें सज उठी हैं। पडरौना शहर के कोतवाली चौक पर सजी दुकान पर स्माल फ्लैग से लेकर विभिन्न साइज में तिरंगा उपलब्ध है। तिरंगा पट़्टी, तिरंगा हैंड बैंड, बैज तिरंगा, तिरंगा टोपी आदि की जबरस्त युवा और बच्चों में मांग है। स्कूली बच्चों पर देश प्रेम छाया हुआ है। आजादी का जश्न मनाने को युवा और बच्चे तिरंगा खरीद रहे हैं।

वहीं विभिन्न राजनैतिक दलों के लोगों द्वारा भी तिरंगे की खरीदारी की जा रही है। हर किसी पर देश भक्ति का रंग चढ़ा है। हालांकि सावन माह में भी इसका असर कांवड़ यात्रा में भी देशभक्ति के तराने गूंज रहे हैं। पंद्रह अगस्त को देश की आजादी का स्वतंत्रता दिवस हर्षोल्लास से मनाया जाएगा। देश को आजादी दिलाने वाले शहीदों को याद किया जाएगा। शहीदों की याद में स्कूल, कालेजों में देश भक्ति पर आधारित कार्यक्रम होंगे। शान के साथ राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाएगा। स्वतंत्रता दिवस पर आयोजित होने वाले कार्यक्रमों का स्कूल, कालेजों में शुरू हुए रिहर्सल वर्तमान में अब अंतिम रूप में है। बच्चे देश भक्तों की पोशाक में सजकर आएंगे।

कोई महात्मा गांधी, तो कोई सुभाष चंद्र बोश बनेगा। जश्न ए आजादी के चलते पडरौना शहर में तिरंगे की मांग बढ़ गई है। तिरंगे की बिक्री को दुकानें सज गई हैं। पडरौना शहर के तिलक चौक से लेकर कोतवाली चौक व सुभाष चौक केरला में कसया मोड़ पर सजी तिरंगे की दुकानों में विभिन्न साइज में तिरंगा उपलब्ध है। बच्चों को सबसे अधिक स्माल फ्लैग पसंद आ रहा है। हैंड बैंड तिरंगे की मांग है। युवाओं में तिरंगा पट्टी और तिरंगा टोपी पसंद की जा रही है। बैज तिरंगे भी पसंद किया जा रहा है। पंद्रह रुपये से लेकर सौ रुपये में राष्ट्रीय ध्वज उपलब्ध है।

और पढ़ें
1 of 243
Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

%d bloggers like this: