Jan Sandesh Online hindi news website

मोदी-शाह की जोड़ी से भयभीत हुए इमरान, कहा- ये अब कश्मीर से पीओके में भी आ सकते हैं !

नई दिल्ली। आज गुलाम कश्मीर में पाकिस्तानी पीएम इमरान खान पाकिस्तान का स्वतंत्रता दिवस मनाने पहुंचे हैं। पाकिस्तान के स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर इमरान खान पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) के मुजफ्फराबाद में लोगों को संबोधित किया। इस दौरान इमरान ने एक बार फिर कश्मीर राग अलापा।

 

इस दौरान लोगों को संबोधित करते हुए इमरान ने कहा कि मैंने कश्मीर के मसले पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी के सच को दुनिया के सामने रखा है। उन्होंने कहा कि ये सिर्फ कश्मीर पर रुकने वाले नहीं हैं, हमें रिपोर्ट्स मिली हैं कि ये पीओके में भी आ सकते हैं। हालांकि खुद के डर पर थोड़ी ही देर में नियंत्रित करते हुए इमरान ने कहा कि हमारी सेना तैयार है और अगर कुछ हुआ तो हम जवाब देंगे।

और पढ़ें
1 of 651

पाकिस्तानी मीडिया की रिपोर्ट के अनुसार, गुलाम कश्मीर(पीओके) की अपनी यात्रा के दौरान, प्रधानमंत्री इमरान खान वहां सभी दलों और हुर्रियत कॉन्फ्रेंस के वरिष्ठ नेताओं से भी मिलने वाले हैं।इमरान खान के दौरे पर गुलाम कश्मीर में कश्मीरियों की भावनाओं को भड़काने की तैयारी है। इस दौरान पाकिस्तान ने गुलाम कश्मीर में अलगाववादियों के समर्थन में कई रैलियां आयोजित की हैं।

बता दें, पाकिस्तान पहले ही ये कह चुका है कि जम्मू कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जान के खिलाफ पाकिस्तान सरकार ने 15 अगस्त को काला दिवस मनाने का ऐलान किया है। यह दिन भारत के स्वतंत्रता दिवस का है।

बता दें कि जम्मू कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने और राज्य के पुनर्गठन से बौखलाए इमरान खान ने भारत से राजनयिक संबंध तोड़ने, ट्रेनों के परिचालन रोकने जैसे कई ताबड़तोड़ फैसले लिए और कई देशों के सामने कश्मीर राग छेड़ने की भी कोशिश की लेकिन हर जगह उन्हें कोई भी भाव नहीं मिलने के बाद इमरान ने बेबसता में अपना भाषण दिया। जिसमें डर, गुस्सा, खीझ और अकेलेपन की झलक दिखाई दी।

वहीं दूसरी ओर जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद पाकिस्तान लगातार अंतरराष्ट्रीय स्तर पर इस मुद्दे को उठाने की कोशिश कर रहा है।

अनुच्छेद 370 हटाने के भारत के फैसले के खिलाफ दुनिया भर में कूटनीतिक पेशबंदी में लगे पाकिस्तान को खुद ही समझ नहीं आ रहा है कि वह चले तो चले किस दिशा में। एक तरफ विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी कश्मीर पर अपनी हार स्वीकार करने लगे हैं तो दूसरी ओर अंतरराष्ट्रीय मंच पर पाकिस्तान की मदद के लिए कोई देश आगे नहीं आ रहा है।

भारत और पाकिस्तान के बीच युद्ध की स्थिति पैदा होने की स्थिति में भारत को जिम्मेदार बताते हुए इमरान ने कहा कि पुलवामा के बाद बालाकोट किया था, अब ये पीओके की तरफ आ सकते हैं। इमरान ने आगे कहा कि अगर कोई मुसलमान अपनी आवाज उठाता है तो वह उन्हें पाकिस्तान जाने के लिए कहते हैं। भारत में मुसलमान डरे हुए हैं।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.