Jan Sandesh Online hindi news website

स्कूली छात्राओं ने एसएसपी को बांधा रक्षासूत्र

अयोध्या जनपद अंतर्गत में स्कूली छात्राओं ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आशीष तिवारी को रक्षासूत्र बांधकर मिठाई खिलाई तो वहीं दूसरी ओर एसएसपी ने छात्राओं को सुरक्षा के प्रति जागरूक किया साथ ही महिलाओं/लड़कियों व छात्राओं की सुरक्षा के लिए अयोध्या पुलिस के हमेशा संकल्पबद्ध रहने का वचन दिया । जनपद के टाइनी टाट्स स्कूल, उदया पब्लिक स्कूल, द कैम्ब्रियन स्कूल के छात्राओं ने पुलिस लाइन पहुंची और एसएसपी की कलाई पर राखी बांध व मिठाई खिलाई। राखी बंधवाने के बाद एसएसपी ने बच्चो से उनकी इच्छा के बारे में पूछा तो बच्चो ने अपनी बाते साझा की ।

स्कूली छात्राओं ने एसएसपी को बांधा रक्षासूत्र
स्कूली छात्राओं ने एसएसपी को बांधा रक्षासूत्र
और पढ़ें
1 of 42

महोदय के आदेशानुसार अयोध्या पुलिस द्वारा स्कूलो के खुलने व बन्द होने के समय की जा रही गश्त और एन्टी रोमियों चेकिंग के बारे में बच्चो ने बात की और कहा कि एसएसपी सर आपके द्वारा शुरू किये गये एन्टीरोमियों चेकिंग से हम बच्चो को बहुत पसन्द आयी तथा हम आपके इस पहल से बहुत खुश हैं । अब हम लोग निडर होकर स्कूल जाते हैं । हमें रास्ते में पुलिस वाले चेकिंग करते हुए मिलते हैं तथा हमसे बात भी करते हैं इससे हम लोग पुलिस वालो से बात करने में अब पहले की तरह झिझकते नहीं है।

स्कूली छात्राओं ने एसएसपी को बांधा रक्षासूत्र
स्कूली छात्राओं ने एसएसपी को बांधा रक्षासूत्र

बच्चो ने महोदय से मिलकर अयोध्या पुलिस द्वारा स्कूली छात्र/छात्राओं की सुरक्षा के लिए किये  जा रहे कार्यक्रमों की सराहना की तथा खुशी व्यक्त की ।

स्कूली छात्राओं ने एसएसपी को बांधा रक्षासूत्र
स्कूली छात्राओं ने एसएसपी को बांधा रक्षासूत्र

महोदय द्वारा चलाए जा रहे कार्यक्रम में “पुलिस की पाठशाला” के बारे में बच्चो ने एसएसपी सर से बात की और कहा कि उनके स्कूल में भी एक “पुलिस की पाठशाला” कार्यक्रम एसएसपी सर अयोजित करायें जिससे हम बच्चो को आपसे बात करने का और मौका मिल सके। इस अवसर पर महोदय ने महिलाओं/लड़कियों व छात्राओं की सुरक्षा के लिए अयोध्या पुलिस के हमेशा संकल्पबद्ध रहने का वचन दिया ।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

%d bloggers like this: