Jan Sandesh Online hindi news website

दिल्लीवासियों को तोहफा,रोज नौ लाख महिलाएं दिल्ली की बसों में करेंगी मुफ्त सफर

300 करोड़ खर्च होंगे : दिल्ली परिवहन निगम (डीटीसी) और क्लस्टर बसों में महिलाओं को मुफ्त सफर की सुविधा मिलेगी। इस पर सरकार *को सालाना 350 करोड़ रुपये खर्च करना होगा।अभी 30 लाख यात्री रोजाना बसों में सफ करते हैं। मुख्यमंत्री चाहते हैं इनमें महिलाओं की संख्या कम से कम आधी हो। 

दिल्ली की बसों में रोजाना नौ लाख महिलाओं को मुफ्त सफर का लाभ मिलेगा। यह सुविधा 29 अक्टूबर से मिलने लगेगी। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को छत्रसाल स्टेडियम में आयोजित स्वतंत्रता दिवस समारोह में ये बातें कहीं। इस दौरान मुख्यमंत्री ने दिल्ली के स्कूलों में शुरू होने जा रहे देशभक्ति पाठ्यक्रम और सीसीटीवी कैमरों का भी जिक्र किया।

300 करोड़ खर्च होंगे : दिल्ली परिवहन निगम (डीटीसी) और क्लस्टर बसों में महिलाओं को मुफ्त सफर की सुविधा मिलेगी। इस पर सरकार *को सालाना 350 करोड़ रुपये खर्च करना होगा।अभी 30 लाख यात्री रोजाना बसों में सफ करते हैं। मुख्यमंत्री चाहते हैं इनमें महिलाओं की संख्या कम से कम आधी हो।

और पढ़ें
1 of 668

मुख्यमंत्री ने कहा कि बसों में महिलाओं के मुफ्त सफर की योजना के चलते दिल्ली परिवहन निगम पर आर्थिक रूप से कोई दबाव नहीं पड़ने दिया जाएगा। दिल्ली सरकार इस योजना के क्रियान्वन के लिए परिवहन निगम को लगभग 200 करोड़ की सब्सिडी देगी। वहीं 150 करोड़ रुपए की सब्सिडी क्लस्टर बसों को दी जाएगी।

मेट्रो में निशुल्क यात्रा के लिए अभी इंतजार

मेट्रो में मुफ्त सफर का इंतजार अभी और करना पड़ेगा। मेट्रो ने खुद कम से कम आठ माह का समय मांगा था। किराया निर्धारण समिति का गठन केंद्र सरकार को करना है जो अभी तक नहीं हुआ है। ऐसा माना जा रहा है कि मेट्रो में मुफ्त सफर की योजना अब आगामी विधानसभा चुनावों के बाद ही लागू होगा।

सीसीटीवी लगने से महिलाएं सुरक्षित हुईं

केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली के अंदर अपनी बहनों की सुरक्षा को लेकर मैं चिंतित रहता हूं। अभी पूरी दिल्ली के अंदर सीसीटीवी कैमरे लग रहे हैं। जहां-जहां सीसीटीवी कैमरे लग रहे हैं, वहां से खासतौर पर महिलाएं मुझसे मिलने आ रही हैं। वे बहुत खुश हैं। उन्हें अब सुरक्षा की अनुभूति हो रही है।

 

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.