Jan Sandesh Online hindi news website

मोदी जी के नाम पर भी तो होना चाहिए कुछ: हंसराज हंस 

केन्द्रीय कानून मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने नागपुर में कहा कि कश्मीर में अनुच्छेद 370 आतंकवादियों को सुरक्षा उपलब्ध कराने का साधन था जिसे अब समाप्त कर दिया गया। प्रसाद ने नागपुर में राज्य कानूनी सेवा प्राधिकरण के अधिकारियों की 17वीं अखिल भारतीय बैठक के बाद कहा कि अनुच्छेद 370 आतंकवादियों को सुरक्षा प्रदान कर रहा था जिसे समाप्त कर दिया गया। इसे हटाने का निर्णय जम्मू-कश्मीर की जनता और देश हित में लिया गया है।

बाहरी दिल्ली से बीजेपी सांसद हंसराज ने जेएनयू में एक कार्यक्रम के दौरान जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 खत्म करने को लेकर कहा कि दुआ करो सब अमन से रहे, बम न चले। हमारे बुजुर्गों ने गलतियां की है हम भुगत रहे हैं।

हंसराज हंस ने जेएनयू में एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि मैं कहता हूं इसका नाम बदलकर एमएनयू कर दो, मोदी जी के नाम पर भी तो कुछ होना चाहिए।

और पढ़ें
1 of 643

कश्मीर अनुच्छेद 370 आतंकवादियों को सुरक्षा देता था: रविशंकर

केन्द्रीय कानून मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने नागपुर में कहा कि कश्मीर में अनुच्छेद 370 आतंकवादियों को सुरक्षा उपलब्ध कराने का साधन था जिसे अब समाप्त कर दिया गया। प्रसाद ने नागपुर में राज्य कानूनी सेवा प्राधिकरण के अधिकारियों की 17वीं अखिल भारतीय बैठक के बाद कहा कि अनुच्छेद 370 आतंकवादियों को सुरक्षा प्रदान कर रहा था जिसे समाप्त कर दिया गया। इसे हटाने का निर्णय जम्मू-कश्मीर की जनता और देश हित में लिया गया है।

अनुच्छेद 370 के कारण जम्मू-कश्मीर में बाल विवाह के खिलाफ कोई कानून नहीं था, भ्रष्टाचार रोकथाम के लिए कोई विधेयक नहीं था। मानव द्वारा मल सफाई की रोकथाम के लिए कोई कानून नहीं था। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर की जनता के उन्नति के लिए यह कदम उठाया गया है। उन्होंने कहा कि भारत हमेशा अपनी सुरक्षा चाक-चौबंद रखता है। यदि अनुच्छेद 370 हटाये जाने के बाद कोई आतंकवादी कार्रवाई होती है तो माकूल जवाब दिया जायेगा। यदि पाकिस्तान किसी भी तरह की कार्रवाई करता है तो उसे बहुत कड़ा जवाब दिया जायेगा। केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश अपनी सुरक्षा के लिए पूरी तरह सतर्क है और किसी भी आतंकवादी हमले का सही जवाब दिया जायेगा।

 

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.