Jan Sandesh Online hindi news website

सेवाएं बहाल हुईं एम्स में , वार्ड में भेजे गए मरीज ; आग लगने की जांच शुरू

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने एम्स के अधिकारियों के साथ बैठक की। उन्होंने हादसे की आंतरिक जांच के आदेश दिए। एम्स की प्रवक्ता आरती विज ने बताया कि इमारत को सील कर एफएसएल टीम ने पड़ताल शुरू कर दी है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अस्पतालों में अग्निशमन इंतजामों की जांच की बात कही है।

एम्स में रविवार को आपातकालीन सेवाएं बहाल हो गईं। मरीजों को उनके वार्ड में भेज दिया गया। एक दिन पहले लगी भीषण आग के कारणों की जांच के लिए एम्स प्रशासन ने पांच सदस्यीय कमेटी बनाई है। दिल्ली पुलिस ने भी मामला दर्ज कर घटना की जांच शुरू कर दी है। आग के कारण 20 और 21 अगस्त को होने वाली एमबीबीएस काउंसलिंग छह दिन आगे बढ़ाकर 26-27 अगस्त कर दी गई है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने एम्स के अधिकारियों के साथ बैठक की। उन्होंने हादसे की आंतरिक जांच के आदेश दिए। एम्स की प्रवक्ता आरती विज ने बताया कि इमारत को सील कर एफएसएल टीम ने पड़ताल शुरू कर दी है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अस्पतालों में अग्निशमन इंतजामों की जांच की बात कही है।

और पढ़ें
1 of 751

* एमबीबीएस की काउंसलिंग छह दिन आगे बढ़ाई गई।
* अग्निकांड की जांच के लिए पांच सदस्यीय आंतरिक समिति बनाई।

वार्ड में वापस भेजे गए मरीज, इलाज भी हुआ
एम्स के टीचिंग ब्लॉक में शनिवार शाम लगी आग के बाद प्रभावित हुईं सेवाएं रविवार को बहाल नजर आईं। आग लगने के बाद अस्पताल की इमरजेंसी सेवा बंद कर दी गई थी। लेकिन, रविवार को इमरजेंसी में सुबह से ही मरीजों का आना-जाना जारी रहा। आग के बाद जिन मरीजों को इमरजेंसी ब्लॉक की एबी विंग से शिफ्ट किया गया था उन्हें भी दोबारा वार्ड में भेज दिया गया।

एम्स में लगी आग के बाद इमरजेंसी सेवा को बंद करने के साथ इमरजेंसी ब्लॉक में भर्ती मरीजों को दूसरी जगह स्थानांतरित किया गया था। लेकिन, रविवार को हालात सामान्य नजर आए। इमरजेंसी ब्लॉक में इलाज के लिए सुबह से मरीजों का आना शुरू हो गया था। हालांकि, कुछ ऐसे मरीज भी थे जिन्हें प्राथमिक उपचार देकर घर वापस भेजा जा रहा था, जबकि मरीज अस्पताल में भर्ती होना चाहते थे।

इसे लेकर मरीज के तीमारदारों में नाराजगी भी दिखी। एम्स के एक डॉक्टर ने बताया कि आग का ओपीडी सेवाओं पर कोई प्रभाव नहीं हुआ है। अस्पताल में सामान्य दिनों की तरह से सोमवार को भी ओपीडी सेवा जारी रहेगी। यूपी के बड़ौत के रहने वाले मोहम्मद सुहैल ने बताया कि आग लगने के बाद उनके भाई को अस्पताल में ही दूसरी जगह शिफ्ट कर दिया गया था। रविवार सुबह चार बजे उसे वापस वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया।

सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम रहे : एम्स के जिस ब्लॉक में आग लगी थी वहां एम्स प्रशासन ने सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम कर रखे थे। किसी भी बाहरी व्यक्ति को इमारत के अंदर नहीं जाने दिया जा रहा था। आपदा प्रबंधन, सिविल डिफेंस वॉलटिंयर और एम्स के सुरक्षाकर्मी इमारत के बाहर तैनात नजर आए।

आग के कारणों का जल्द पता लगाएंगे : केजरीवाल
एम्स में लगी आग को लेकर रविवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एम्स का दौरा किया। इस दौरान उन्होंने एम्स प्रशासन व दमकल विभाग के कर्मियों से जानकारी ली। उन्होंने कहा कि वह आग के कारणों की जांच करा रहे हैं। इसके बाद उचित कार्रवाई की जाएगी। केजरीवाल ने दौरे के बाद कहा कि एम्स में आग की घटना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। दमकलकर्मियों व एम्स प्रशासन की मुस्तैदी से आग पर काबू पा लिया गया। अच्छी बात यह रही कि घटना में कोई हताहत नहीं हुआ। सभी को सुरक्षित निकाल लिया गया। उन्होंने कहा कि एम्स प्रशासन व चिकित्सकों ने तुरंत सक्रिय होकर मरीजों की जान बचाई। वहीं, उनके इलाज पर भी किसी प्रकार का असर नहीं पड़ा।

 

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.