Jan Sandesh Online hindi news website

निर्मला सीतारमण ने की 10 सरकारी बैंकों के महाविलय की घोषणा, जानें इन बैंकों में बचत खाता या फिक्स्ड डिपॉजिट पर क्या होगा असर

नई दिल्ली। वित्त मंत्री ने 10 बैंकों का विलय करने का ऐलान कर दिया है, जिसके बाद मौजूदा 27 बैंकों की जगह देश में केवल 12 सरकारी बैंक रह जाएंगे। बैंकों के इस महाविलय का उन ग्राहकों पर बड़ा असर पड़ेगा, जिनका इन बैंकों में बचत खाता या फिक्स्ड डिपॉजिट है।

पंजाब नेशनल बैंक, यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया और ओरिएंटल बैंक के विलय का ऐलान कर दिया। इस विलय के बाद पीएनबी देश का दूसरा बड़ा सरकारी बैंक बन जाएगा. इसके अलावा निर्मला सीतारमण ने केनरा बैंक और सिंडिकेट बैंक के विलय का भी ऐलान किया।

निर्मला सीतारमण ने बताया कि यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, आंध्रा बैंक और कॉरपोरेशन बैंक का भी विलय होगा.इसके अलावा इंडियन बैंक में इलाहाबाद बैंक के विलय का ऐलान किया गया।

इस विलय के बाद देश को 7वां बड़ा पीएसयू बैंक मिलेगा. वित्‍त मंत्री के ऐलान के बाद अब देश में 12 पब्लिक सेक्टर बैंक रह गए हैं। इससे पहले साल 2017 में पब्‍लिक सेक्‍टर के 27 बैंक थे. निर्मला सीतारमण ने आगे बताया कि 18 में से 14 सरकारी बैंक प्रॉफिट में हैं।

और पढ़ें
1 of 1,469

आज जिन बैंकों के साथ वित्त मंत्री की बैठक हुई उनमें पीएनबी, कैनरा बैंक, इलाहाबाद बैंक, ओबीसी, कॉर्पोरेशन बैंक, यूनियन बैंक शामिल थे। सरकार पहले भी बैंक ऑफ बड़ौदा, विजया बैंक और देना बैंक का विलय कर चुकी है. उन्होंने कहा कि बैंकों के साथ मिलकर 4 एनबीएफसी ने अपने लिए रास्ता निकाला है।

उन्होंने कहा कि हमें वित्तीय सेक्टर को मजबूत बनाना है. उन्होंने कहा कि कई बैंकिंग सुधार हाल के सालों में सरकार ने किए हैं. 3.38 लाख शैल कंपनियां बंद की गई हैं पिछले सालों में. वित्त मंत्री ने कहा कि 18 सरकारी बैंकों में से 14 बैंक मुनाफे में है।

उन्होंने कहा कि बैंक ऑफ बड़ौदा में विजया बैंक और देना बैंक के विलय से कई अच्छी चीजें हुई है. इन बैंकों के विलय में किसी भी कर्मचारी को नहीं निकाला गया. वित्त मंत्री ने 10 बैंकों का विलय कर 4 बड़े सरकारी बैंक बनाने का एलान किया। उन्होंने कहा कि पीएनबी, कैनरा बैंक, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया और इंडियन बैंक में दूसरे बैंकों का विलय होगा।

निर्मला सीतारमण ने कहा कि यूनियन बैंक का आंध्रा बैंक और कॉर्पोरेशन बैंक के साथ विलय होगा जो देश का 5वां सबसे बड़ा सरकारी बैंक बनेगा. इंडियन बैंक और इलाहाबाद बैंक का भी विलय होगा।

निर्मला सीतारमण ने की 10 सरकारी बैंकों के महाविलय की घोषणा

वित्त मंत्री ने कहा कि कैनरा बैंक का सिंडिकेट बैंक में विलया होगा. ये देश का चौथा सबसे बड़ा बैंक होगा। जिसका कारोबार 15.2 लाख करोड़ रुपए है. निर्मला सीतारमण ने कहा कि पीएनबी, ओरिएंटल बैंक और यूनाइटेड बैंक का विलय होगा। ये दूसरा सबसे बड़ा सरकारी बैंक होगा। पीएनबी से 1.5 गुना बढ़ा होगा। जिसमें 11437 ब्रांच हैं।

You might also like
Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

%d bloggers like this: