Jan Sandesh Online hindi news website

राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने आचार्य नरेंद्र देव कृषि विवि के दीक्षान्त समारोह में टापर छात्र-छात्राओं को दिया गोल्ड मेडल

0

कुमारगंज-अयोध्या।  आचार्य नरेंद्र देव कृषि विवि कुमारगंज का 21वां दीक्षांत समारोह विविवि के आडिटोरियम हाल में सम्पन्न हुआ। राज्यपाल आनंदी बेन पटेल एवं विवि के कुलपति जे एस संधू ने विश्वविद्यालय के 23 टापर को गोल्ड मेडल प्रदान किया। कुलपति ने कुलाधिपति एवं मुख्य अतिथि को फल भेट कर स्वागत किया।

ऑडिटोरियम हॉल में आने से पहले राज्यपाल आनंदी बेन पटेल और मुख्य अतिथि डॉक्टर लक्ष्मण सिंह राठौर ने आचार्य नरेंद्र देव की प्रतिमा पर पुष्पांजलि एवं नरेंद्र उद्यान में वृक्षारोपण किया। कुलाधिपति द्वारा साहित्य का विमोचन किया गया  विश्वविद्यालय के छात्र छात्राओं को कुलपति द्वारा दीक्षोपदेश की शपथ दिलाई गई ।

दीक्षांत समारोह में मेडल प्राप्त करने वाले विद्यार्थी  मेडल पाकर खिल उठे मेधावियों के चेहरे

पीएचडी में बीरेन्द्र बहादुर सिंह को एनिमल पोषण में गोल्ड मेडल, मनीष कुमार सिंह हॉर्टिकल्चर साइंस में गोल्ड मेडल व विपुल सिंह को   एग्रोनॉमी में गोल्ड मेडल दिया गया इसी क्रम में अजीता सिंह बीएससी एजी ऑनर्स में कुलाधिपति गोल्ड मेडल, ऐश्वर्या श्रीवास्तव को बी०भी०एस०सी एण्ड ए एच  में कुलाधिपति गोल्डमैडल , शिवम मिश्रा को बीएससी हॉर्टिकल्चर में कुलाधिपति गोल्ड मेडल, अंजली यादव को बीएससी एच एस सी ऑनर्स में गोल्ड मेडल, राकेश कुमार गुप्ता पी जी एम भी एस सी मैं को लाजपत द्वारा गोल्ड मेडल प्रदान किया गया, अनुशी को बीएससी एजी ऑनर्स में कुलपति गोल्ड मेडल, राघव तिवारी को बीएससी एजी ऑनर्स में कुलपति गोल्ड मेडल, पंकज कुमार जयसवाल को बीभीएससी एंड एएच में कुलपति गोल्ड मेडल, कुलदीप को बीएससी में कुलपति गोल्ड मेडल, समृद्धि गुरूरानी को बी एफ एस सी ऑनर्स कुलपति गोल्ड मेडल, आनंद मिश्रा को बीटेक एग्रिल इंजीनियरिंग में कुलपति गोल्ड मेडल, प्रीति मौर्या बीएससी एच एस सी ऑनर्स में कुलपति गोल्ड मेडल, गोपाल कृष्ण तिवारी को पीजी एमएससी एजी में कुलपति गोल्ड मेडल प्रदान किया गया।

और पढ़ें
1 of 996

शिवम पटेल बीएससी एजी ऑनर्स, जितेंद्र सिंह यादव बीएससी एजी ऑनर्स एजेडएम, प्रभात कुमार गौतम बीभीएससी एंड एएच, पूतान यादव बीएससी ऑनर्स, आशीष साहू बीएफएससी ऑनर्स, दीपक पांडे बीटेक मैकेनिकल इंजीनियरिंग, आकांक्षा को भी बीएससी एचएससी ऑनर्स यूनिवर्सिटी गोल्ड मेडल प्रदान किया गया।इस दौरान नरेंद्र देव कृषि विवि के दीक्षांत समारोह में गोकुला न्याय पंचायत के प्राइमरी पाठशालाओं के 30 छात्र छात्राएं, तथा चंद्रभान गुप्ता इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य समेत दर्जनों इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्यो के अलावा समाज के प्रबुद्ध लोगों  भी मौजूद रहे ।

दीक्षांत समारोह में विवि से जुड़े सभी महाविद्यालय के विभागाध्यक्ष भी मौजूद रहे। कुलपति प्रो. जे एस संधू ने विश्वविद्यालय की प्रगति रिपोर्ट पढ़ी। इसके उपरांत कुलाधिपति एवं कुलपति द्वारा विभिन्न संकायों के छात्र-छात्राओं को उपाधि एवं स्वर्ण पदक वितरण किया गया।
कुलाधिपति ने अपने उद्बोधन भाषण में विशेष रुप से गोकुला न्याय पंचायत के प्राथमिक विद्यालय से आए हुए छात्र छात्राओं को अग्रिम पंक्ति में स्थान दिलाया  तथा बच्चों को अक्षर ज्ञान, गणित इंग्लिश सहित अन्य पुस्तकें ज्ञान वर्धन के लिए कुलाधिपति द्वारा दिया गया इसी क्रम में बच्चों को स्वस्थ रखने के लिए कुलाधिपति द्वारा केला व सेब भी  प्रदान किया गया कुलाधिपति ने कहा कि इसी तरीके से विद्यालयों को पुस्तकें प्रदान की जाए तो एक बढ़िया सी लाइब्रेरी तैयार हो सकती है उस लाइब्रेरी के माध्यम से कमजोर घर के बच्चे भी ठीक तरीके से पठन-पाठन कर अपना भविष्य उज्जवल कर सकते हैं।

कुलाधिपति ने कुपोषण पर प्रकाश डालते हुए कहा कि पहले की अपेक्षा बीमारियां अब अधिक हैं क्योंकि पहले लोगों के घरों पर गाय भैंस रहती थी तो दूध डेरी पर नहीं भेजा जाता था उसको लोग खाने पीने के उपयोग में लेते थे लेकिन आज का दौर है कि लोग दूध ना खा करके डेयरी पर बेच रहे हैं जिसके चलते मनुष्य के अंदर रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होती जा रही है ।महाविद्यालयों विश्वविद्यालयों में एक पाठ्यक्रम यह भी होना चाहिए कि ग्रामीण क्षेत्र की महिलाओं को यह भी बताएं कि कुपोषण से बच्चो एवं गर्भवती महिलाओं को कैसे बचाया जा सकता है बुजुर्ग को किस तरीके का भोजन देना उसके स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होगा। यह भी जानना बहुत जरूरी है।

दीक्षांत समारोह में मेडल प्राप्त करने वाले विद्यार्थी मेडल पाकर खिल उठे मेधावियों के चेहरे

कुलाधिपति ने कहा कि जिस तरीके से पोलियो मुक्त भारत हो गया है उसी तरीके से टीबी मुक्त भारत बनाया जा रहा है इसके लिए कार्य चल रहे हैं उत्तर प्रदेश के सभी विश्वविद्यालयों को एक एक गांव गोद लेने के लिए भी कहा गया है जो कि विश्वविद्यालय गांव को गोद लेना शुरू कर दिया है फिलहाल गांव गोद लेने से कार्य नहीं होने वाला इसके लिए जागरूक रहने की जरूरत है गोद लिए गए गांव में यह जानना जरूरी है कि कुपोषित बच्चे कितने हैं गर्भवती महिलाएं कितनी हैं  टीवी से कितने लोग ग्रसित हैं ऐसे आपला रहने पर समय रहते ही बीमारियों से लोगों को बचाया जा सकता है।

You might also like
Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: