Jan Sandesh Online hindi news website

चाहते हैं लंबी उम्र तो बैठें कम, चलें-फिरें ज्यादा

0

ब्रिटिश मेडिकल जर्नल में छपी एक नई स्टडी के मुताबिक एक दिन साढ़े नौ घंटे से ज्यादा बैठना मौत के खतरे को बढ़ाना है। फिजिकल ऐक्टिविटी को लंबी उम्र से जोड़कर पहले भी कई बार देखा गया है लेकिन इस रीसर्च में इसकी इंटेसिटी को देखा गया।

इसमें हल्की-फुल्की ऐक्टिविटीज जैसे टहलना, डिनर बनाना, बर्तन धोना, ब्रिस्क वॉक, क्लीनिंग जॉगिंग, भारी सामान उठाना जैसी इंटेंस ऐक्टिविटीज की तुलना की गई।

और पढ़ें
1 of 44

सबसे अच्छी एक्सर्साइज है वॉकिंग

जब बात एक्सर्साइज की आती है तो उसमें वॉकिंग सबसे अच्छी और आसान एक्सर्साइज है वॉकिंग यानी चलना। एक तो यह फ्री है, इसके लिए आपको किसी तरह के साजो-समान या पार्टनर की जरूरत नहीं होती और इसे आप दिन या रात किसी भी समय कर सकते हैं। कई स्टडीज में यह बात साबित भी हो चुकी है कि वॉक करना सेहत के लिए कई तरह से फायदेमंद है….
अगर आप हेल्दी रहना चाहते हैं तो हफ्ते में 5 दिन और हर दिन 45 मिनट की वॉक जरूर करें। वॉक करने से कैंसर, हार्ट डिजीज और डायबीटीज जैसी बीमारियों का खतरा कई गुना कम हो जाता है। साथ ही वॉक करने से आपको नींद भी अच्छी आती है। हालांकि सोने से ठीक पहले बहुत ज्यादा वॉक करना सही नहीं माना जाता।
वॉकिंग, बीपी कंट्रोल में रखने में भी मदद करता है। वॉक करने से न सिर्फ आपका वजन कंट्रोल में रहता है बल्कि हाई ब्लड प्रेशर को कम करने में भी मदद मिलती है। वॉक करने से आपका एनर्जी लेवल बेहतर बनता है, आप ऐक्टिव बने रहते हैं और लंबे समय में आपको जल्दी थकान महसूस नहीं होती है।
कई स्टडीज में यह बात भी सामने आयी है कि हमें हर दिन कम से कम 10 हजार कदम जरूर चलना चाहिए और आप चाहें तो ऐसे कई ऐप्स भी हैं तो आपके इन कदमों का रेकॉर्ड रखने में आपकी मदद कर सकते हैं। हालांकि दुनियाभर के लोगों का हर दिन चलने का औसत सिर्फ 5 हजार कदम ही है।
इसके लिए हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में एक रिसर्च भी हुई थी जिसमें यह बात सामने आयी कि हर दिन 2 हजार कदम एक्सट्रा चलने से दिल से जुड़ी बीमारियों होने का खतरा 10 प्रतिशत कम हो जाता है और डायबीटीज का खतरा 5.5 प्रतिशत तक कम हो जाता है। साथ ही हर दिन 1 हजार कदम एकस्ट्रा चलने से मौत का खतरा भी 6 प्रतिशत घट जाता है।
जापान के लोग दुनिया में सबसे ज्यादा ऐक्टिव माने जाते हैं कि क्योंकि वे हर दिन 10 हजार 241 कदम चलते हैं। ऐसे में अगर आप हर दिन 10 हजार कदम नहीं चल सकते तो कम से कम 7 हजार 500 कदम जरूर चलें क्योंकि चलना सेहत के लिए बेहद जरूरी है।

इस रिसर्च में 36383 लोगों ने हिस्सा लिया जिनकी 40 और इससे ज्यादा थी। उन्हें 5.8 साल तक फॉलो किया गया। पता चला कि किसी भी तरह की फिजिकल ऐक्टिविटी चाहे इसकी तीव्रता जितनी भी हो, वह मौत के खतरे को कम करती है।

मौत का खतरा जिनमें सबसे कम देखा गया वे सबसे ज्यादा और सब कम ऐक्टिव लोगों के बीच के लोग थे। शोधकर्ताओं का कहना है कि पब्लिक हेल्थ का मेसेज साधारण शब्दों में इतना होना चाहिए, ‘कम बैठे और ज्यादा से ज्यादा चलें-फिरें।’

इसलिए कहा जा सकता है कि आप कितनी तेजी से फिजिकल ऐक्टिविटी करते हैं इससे फर्क नहीं पड़ता। जरूरी नहीं है कि आप एक दिन में दो बार जिम जाएं। किसी भी तरह की फिजिकल ऐक्टिविटी आपकी उम्र बढ़ा सकती है।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।