Jan Sandesh Online hindi news website

बौखलाए पाकिस्तान ने भारत पर मढ़ा दोष, जानिए क्या कहा पाक मंत्री फवाद हुसैन ने

0

श्रीलंका के क्रिकेट खिलाड़ियों के सुरक्षा कारणों से दौरा रद्द करने से बौखलाए पाकिस्तान ने अब इसका दोष भारत पर मढ़ा है। अपने भारत विरोधी बयानों के लिए चर्चित पाकिस्तान के मंत्री फवाद हुसैन ने भारत पर श्रीलंकाई खिलाड़ियों को धमकाने का आरोप लगाया है। हुसैन ने कहा कि भारत ने श्रीलंकाई खिलाड़ियों को IPL कॉन्ट्रैक्ट कैंसल करने की धमकी दी, जिसके बाद ही उन्होंने पाकिस्तान आने से इनकार किया।

फवाद ने ट्वीट में दावा किया, ‘कुछ जानकार स्पोर्ट्स कॉमेंटेटर्स ने मुझे बताया कि भारत ने श्रीलंका के खिलाड़ियों को पाकिस्तान दौरे पर जाने से इनकार नहीं करने पर आईपीएल से निकालने की धमकी दी। यह वाकई बहुत घटिया हरकत है।’ फवाद ने भारत में राष्ट्रवादी भावना के चरम पर पहुंचने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा, ‘खेल से लेकर अंतरिक्ष तक, कट्टर राष्ट्रवाद कुछ ऐसा छा गया है जिसकी हमें निंदा करनी चाहिए। भारतीय अधिकारियों की यह घटिया हरकत है।’
और पढ़ें
1 of 85

श्रीलंकाई क्रिकेट टीम के 10 खिलाड़ियों ने पाकिस्तान दौरे से अपना नाम वापस ले लिया है। श्रीलंका को सितंबर-अक्टूबर में पाकिस्तान दौरे पर सीमित ओवरों की सीरीज खेलनी है। जिन खिलड़ियों ने पाकिस्तान दौरे से नाम वापस लिया है, उनमें वनडे टीम के कप्तान दिमुथ करुणारत्ने, टी-20 कप्तान लसिथ मलिंगा, पूर्व कप्तान एंजेलो मैथ्यूज, निरोशन डिकवेला, कुसल परेरा, धनंजय डी सिल्वा, अकिला धनंजय, सुरंगा लकमल, दिनेश चंडीमल और दिमुथ करुणारत्ने शामिल हैं।

बता दें कि पाकिस्तान में श्रीलंका की क्रिकेट टीम पर 2009 में आतंकवादी हमला हो चुका है। इसके बाद से अधिकतर क्रिकेट टीमें पाकिस्तान दौरे से बचती रही हैं। 2015 में जिम्बाब्वे और 2018 में वेस्ट इंडीज की टीमों ने वहां सीमित ओवरों के मैच जरूर खेले, लेकिन बड़ी टीमें पाकिस्तान दौरा करने के लिए राजी नजर नहीं आतीं। इस बार जब श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड अपनी टीम पाकिस्तान भेजने पर राजी हुई तो उनके खिलाड़ियों ने ही जाने से इनकार कर दिया।

फवाद का बयान नया नहीं
बता दें कि पाकिस्तानी मंत्री फवाद ने ने पहली बार इस तरह का भारत विरोधी बयान नहीं दिया है। भारत के चंद्रयान मिशन की सफल लैंडिंग न होने को लेकर भी उन्होंने तंज कसा था, लेकिन इसके बाद उनकी अपने घर में ही किरकिरी हुई थी।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।