Jan Sandesh Online hindi news website

BJP में शामिल शिवाजी के वंशज और NCP सांसद उदयन राजे भोसले

0

सतारा से नैशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी के सांसद छत्रपति उदयन राजे भोसले ने शनिवार को भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ग्रहण कर ली। शरद पवार की पार्टी से चार बार सांसद रहे भोसले छत्रपति शिवाजी के वंशज हैं। काफी दिन से उनके बीजेपी में शामिल होने की अटकलें थीं, लेकिन शुक्रवार को ट्वीट कर उन्होंने पुष्टि कर दी। गौरतलब है कि महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव से पहले विपक्षी पार्टियों से नेताओं की भगदड़ जारी है।

शाह की मौजूदगी में ली शपथ
और पढ़ें
1 of 1,223

भोसले नई दिल्ली में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की मौजूदगी में बीजेपी में शामिल हुए। इससे पहले शनिवार को ही उन्होंने लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला को अपना इस्तीफा सौंपा। उन्होंने गुरुवार को एनसीपी प्रमुख शरद पवार से मुलाकात भी की थी, जिसके बाद एनसीपी की ओर से बताया गया था कि आगामी विधानसभा चुनावों के मद्देनजर चर्चा के लिए दोनों नेताओं ने मुलाकात की है।

भोसले का सियासी सफर
भोसले सेना-बीजेपी की सरकार में 1995-1999 तक वाणिज्य राज्यमंत्री रह चुके हैं। 2009 के बाद से वह सतारा से लोकसभा सांसद रहे हैं। 2019 में उन्होंने शिवसेना के नरेंद्र पाटिल को हराया था। अब वहां होने वाले उपचुनाव में शिवसेना को बीजेपी के लिए सीट छोड़नी पड़ेगी। भोसले ने तीन दिन पहले सीएम फडणवीस से मुंबई में मुलाकात की थी। वहीं, सीएम ने भी पिछले महीने संकेत देते हुए कहा था कि अगर भोसले बीजेपी में शामिल होते हैं तो उन्हें खुशी होगी।

एनसीपी का दावा, मजबूत हुई पार्टी
भोसले के पार्टी छोड़ने पर एनसीपी के प्रवक्ता नवाब मलिक ने कहा है कि भोसले के फैसले से एनसीपी और मजबूत होगी। उन्होंने कहा कि सतारा में पार्टी काडर मजबूत है और यह सुनिश्चित किया जाएगा कि उपचुनाव में उन्हें भारी अंतर से हराया जाए। इससे पहले एनसीपी ने भोसले के बीजेपी में शामिल होने की बात को खारिज कर दिया था और आरोप लगाया था कि भारतीय जनता पार्टी का खेमा जानबूझकर ऐसी अटकलों को हवा दे रहा है ताकि कुछ महत्वपूर्ण मुद्दों से लोगों का ध्यान भटकाया जा सके।

जाधव शिवसेना में शामिल
इससे पहले एनसीपी नेता भास्कर जाधव महाराष्ट्र विधानसभा से शुक्रवार की सुबह इस्तीफा देने के बाद शिवसेना में शामिल हो गए थे। शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे की उपस्थिति में जाधव पार्टी में शामिल हुए। गुहागर निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व कर चुके जाधव 2004 में एनसीपी में शामिल होने से पहले शिवसेना का हिस्सा थे। जाधव के इस्तीफे के बाद एनसीपी ने उनकी आलोचना की और कहा कि जाधव सत्ता के बिना नहीं रह सकते हैं।

You might also like
Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.