Jan Sandesh Online hindi news website

MAHARASHTRA : होटल से किया शिफ्ट शिवसेना विधायकों को, जयपुर भेजा कांग्रेस विधायकों को

0

महाराष्ट्र। महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में जनता ने भाजपा-शिवसेना गठबंधन को बहुमत दिया है। लेकिन मुख्यमंत्री पद को लेेकर भाजपा-शिवसेना के बीच तकरार बनी हुई है। महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिए सिर्फ एक दिन बचा हुआ है। यदि सरकार नहीं बनाई गई तो महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगा दिया जाएगा।

और पढ़ें
1 of 99

अपडेट…

-कांग्रेस ने सारे विधायकों को जयपुर भेज दिया है।
– शिवसेना की बैठक में उद्धव ठाकरे ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवसेना का ही होगा।
-केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के घर पर भाजपा के वरिष्ठ नेता और मंत्री चंद्रशेखर बावनकुले, विनोद तावड़े, सुभाष देशमुख, संभाजी निलंगेकर-पाटिल पहुंच गए हैं। सरकार गठन को लेकर माथापच्ची चल रही है।

-शिवसेना अपने विधायकों को दो एसी बसों से होटल से शिफ्ट कर रही है। शिवसेना भवन में चल रही बैठक भी समाप्त हाे गई है।

  • शिवसेना भवन में चल रही है शिवसेना के सांसद और पदाधिकारियों की बैठक। इस बैठक में उद्धव ठाकरे, आदित्य ठाकरे भी मौजूद हैं। सरकार बनाने को लेकर बड़ा निर्णय ले सकते हैं ।

  • भाजपा के नेता नीतिन गड़करी ने कहा है कि शिवसेना के साथ 50-50 फाॅर्मूला की बात नहीं हुई थी। अर्थात ढाई-ढाई साल के मुख्यमंत्री बनाने की बात नहीं हुई है। विधायकों के खरीद-फरोख्त का सवाल पैदा नहीं होता है। सरकार बनाने में संघ की कोई भूमिका नहीं है।

-कांग्रेस ने दावा किया है कि भाजपा ने शिवसेना के विधायक को 50 करोड़ रुपए का ऑफर दिया है। इसी बीच खबर आयी है कि कांग्रेस अपने सभी विधायकों को जयपुर भेज रही है।

-महाराष्ट्र में भाजपा के चुनाव प्रभारी रहे भूपेन्द्र यादव ने आज मुंबई आ रहे हैं, जहां वह पार्टी की कोर कमेटी के साथ बैठक करेंगे।

-शिवसेना के नेता संजय राउत ने आज कहा है कि दिल्ली सरकार महाराष्ट्र कभी झूका नहीं है। महाराष्ट्र हमारा है। यह छत्रपति शिवाजी की नीतियों को साथ लेकर चलने वाले हैं। हमारी अस्मिता की लड़ाई जारी रहेगी। यह जनादेेश का अपमान है। दिल्ली से महाराष्ट्र को कंट्रोल करने का प्रयास किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री पद को लेकर भाजपा और शिवसेना के बीच दांवपेच फंसा हुआ है। इसको सुलझाने के लिए मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कई बार प्रयास किया। सूत्रों ने बताया कि फडणवीस ने उद्धव ठाकरे को तीन बार फोन किया, लेकिन उन्होंने फोन नहीं उठाया। इस बारे में उद्धव देवेंद्र फडणवीस के नाम पर किसी भी तरह विचार करने को तैयार नहीं हैं।

शिवसेना ने तो अपने विधायकों को मुंबई के रंगशारदा होटल में ठहरा दिया है ताकि किसी भी तरह की खरीद फरोख्त से वो बच सकें।
महाराष्ट्र में इस प्रकार बन सकती है सरकार…

  1. शिवसेना-भाजपा में से कोई एक मुख्यमंत्री के पद छोड़े तो बनेगी गठबंधन सरकार।
    2- 288 सदस्यीय विधानसभा में भाजपा के 105 विधायक हैं। बहुमत के लिए 145 विधायक चाहिए। भाजपा निर्दलीय सहित अन्य 29 विधायकों को साथ कर ले तो संख्या 134 हो जाएगी। बहुमत परीक्षण के दौरान सदन से विरोधी दलों के 21 विधायक गैरहाजिर हो जाएंगे तो संख्या 267 होगी और बहुमत का जरूरी आंकड़ा 134 हो जाएगा। लेकिन इसके लिए भाजपा ने इनकार कर दिया।
    3- शिवसेना में टूट : 56 विधायकों वाली शिवसेना के 45 विधायक टूटकर भाजपा के समर्थन में आ जाए तो दल-बदल कानून लागू नहीं होगा। भाजपा की संख्या 150 हो जाएगी। हालांकि भाजपा ने इससे इनकार किया है।
    4- शिवसेना (56) एनसीपी (54) के साथ गठबंधन सरकार बनाए। कांग्रेस (44) बाहर से समर्थन दे। ऐसे में आंकड़ा 154 होगा।
You might also like
Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।
%d bloggers like this: