Jan Sandesh Online hindi news website

CM नीतीश पर तेजस्वी यादव का आरोप, शिक्षा व्यवस्था को मीठा जहर देकर बदला खंडहर में

0

पटना। राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के वरिष्ठ नेता और राज्य के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने सोमवार को बिहार की शिक्षा व्यवस्था को लेकर एक बार फिर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधा है। बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी ने नीतीश कुमार पर शिक्षा व्यवस्था को खंडहर में तब्दील करने का आरोप लगाते हुए कहा कि पिछले 15 वर्षों में मीठा जहर देकर बिहार की शिक्षा व्यवस्था का निर्ममता से कत्ल किया गया है।

तेजस्वी ने अपने ट्विटर हैंडिल से ट्वीट किया कि नीतीशजी ने स्कूलों और विश्वविद्यालयों से गुणवत्तापूर्ण शिक्षा समाप्त कर, इन्हें खंडहर में तब्दील कर, दो पीढिय़ों का अपूरणीय नुकसान किया है। दो पीढिय़ों के भविष्य को बर्बाद कर उनके जीवन को अंधेरे कुएं में धकेलने वाले मुख्यमंत्री को इस आपराधिक कृत्य के लिए छात्र और युवा माफ नहीं करेंगे।

और पढ़ें
1 of 43

इसके अलावा एक अन्य ट्वीट में तेजस्वी ने लिखा कि क्या आप जानते हैं कि नीतीश सरकार के निकम्मेपन के कारण बिहार में ग्रेजुएशन करने में 6-8 वर्ष और पोस्ट ग्रेजुएशन करने में 4-6 वर्ष लगते हैं? आत्ममुग्ध नीतीश कुमार ने विगत 15 वर्षों में मीठा जहर देकर बिहार की शिक्षा व्यवस्था का निर्ममता से कत्ल किया है।

तेजस्वी ने अन्य लोगों से इस विषय में सोचने की अपील करते हुए एक अन्य ट्वीट में लिखा, साथियों, राजनीति से ऊपर उठकर सोचिए, समझिए और पहचानिए कि विगत 15 वर्षों में प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था की मृत प्राय: स्थिति क्यों और किसके द्वारा की गई? यह आपके वर्तमान और भविष्य का ही नहीं, अपितु आने वाली पीढिय़ों के सुनहरे भविष्य का भी सवाल है। उल्लेखनीय है कि महागठबंधन में शामिल दल इन दिनों राज्य की शिक्षा व्यवस्था को लेकर सरकार पर हमलावर हैं। पिछले दिनों राज्य की शिक्षा-व्यवस्था को लेकर राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) के प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा अनशन पर भी बैठे थे।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: