Jan Sandesh Online hindi news website

कुशीनगर में पडरौना नगर पालिका सीमा क्षेत्र का हुआ विस्तार,दो और नए नगर पंचायत को मिली मंजूरी

0
और पढ़ें
1 of 326

उपेंद्र कुशवाहा

पडरौना,कुशीनगर । नगर पालिका परिषद पडरौना के विस्तारीकरण को लेकर शासन ने 31 गांवों को नगर क्षेत्र की सीमा में शामिल करने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। अब जिला प्रशासन इस पर इन्हें नगर क्षेत्र में शामिल करने की औपचारिकता पूर्ण कराएगा। डीएम ने इस की पुष्टि की है। गौरतलब हो कि वर्ष 1949 में नगर पालिका बने पडरौना का सीमा विस्तारीकरण का मामला करीब नौ साल से लंबित थी । जबकि अंतिम बार वर्ष 1964 में इस नगर पालिका क्षेत्र का विस्तार किया गया था।

तब से नगर का क्षेत्रफल करीब दो गुना बढ़ चुका था। परंतु विस्तारीकरण नहीं होने की वजह से लोगों को नगर क्षेत्र की सुविधा नहीं मिल पा रही थी। बेलवा चुंगी से सटे जगदीशपुरम कॉलोनी के लोग तो एक दशक से इसके लिए आंदोलन कर रहे थे। हालाकी नगर पालिका चुनाव से पहले भी यह मामला खूब चर्चा में था लेकिन ऐन वक्त पर शासन ने विस्तारीकरण की प्रक्रिया को रोक दिया था। चुनाव बाद इसमें फिर सक्रियता आई है।

इस सिलसिले में उच्च न्यायालय में पडरौना नगर सीमा विस्तार याचिका को लेकर पैरवी कर रहे बसपा के जिला उपाध्यक्ष साहिद लारी ने बताया कि शासन ने नगर पालिका क्षेत्र के विस्तारीकरण को मंजूरी दे दी है। नए परिसीमन में 18 ग्राम सभा के तहत 31गांवों को नगर क्षेत्र में शामिल करने का प्रस्ताव है। जबकि फाजिलनगर और दुदही को नया नगर पंचायत में शामिल होना है ।
यह गांव होंगे नगर क्षेत्र में शामिल
पडरौना नगर सीमा विस्तार होने पर नगरपालिका में शामिल होने वाले गांव में नोनियापट्टी,परसौनी कला,सेवक छपरा,भरवलिया,बंधु छपरा, केवल छपरा,अहिरौली बुजुर्ग, बंदीछापर,बेलवा मिश्र,रामपुर, मटिहनिया बुजुर्ग,मोतीछपरा, भिस्वा सरकारी,बलुचहां, सोहरौना,जंगल बेलवा,जंगल बकुलहा,जंगल विशुनपुरा, अहिरौली खुर्द,पटखौली,कांटी, मटिहनिया खुर्द,पकड़ी बुजुर्ग, लमुहा,दमवतिया,मिल्की, पलिया, बसडीला आदी अन्य गांव शामिल होंगे ।
You might also like
Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: