Jan Sandesh Online hindi news website

शासन के विकास प्राथमिकता कार्यक्रमों पर विशेष ध्यान दें अधिकारी……. डीएम

0

विकास व जनसमस्याओं के निस्तारण में किसी भी प्रकार की लापरवाही क्षम्य नही होगी……जिलाधिकारी।

रिपोर्ट:सैय्यद मकसूदुल हसन

और पढ़ें
1 of 1,033

अमेठी। जिलाधिकारी अरुण कुमार की अध्यक्षता में शासन के विकास प्राथमिकता कार्यक्रमों की समीक्षा बैठक का आयोजन कलेक्ट्रेट सभागार में किया गया। उन्होंने सम्बन्धित विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि अपने-अपने विभाग की योजनाओं/कार्यक्रमों के लक्ष्य को निर्धारित समय सीमा में अवश्य पूर्ण करें। उन्होंने कहा कि अधिकारीगण शासन के विकास प्राथमिकता कार्यक्रमों पर विशेष ध्यान दें। इसमें किसी प्रकार की शिथिलता कदापि न बरती जाये।
डीएम ने शासन के विकास प्राथमिकता कार्यक्रमों की विभागवार/योजनावार समीक्षा के दौरान स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण के अन्तर्गत चिकित्सकों, दवाओं की उपलब्धता, स्वास्थ्य सेवाओं की स्थिति, टीकाकरण आदि, पंचायती राज विभाग के अन्तर्गत राज्य/14वां वित्त आयोग, राष्ट्रीय ग्राम स्वराज अभियान, समाज कल्याण के अन्तर्गत छात्रवृत्ति योजना/वितरण, मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना, पेंशन योजना (भौतिक/वित्तीय), दिव्यांगजन सशक्तीकरण पेंशन योजना, प्रोबेशन विभाग की 181 महिला हेल्पलाइन योजना, ग्राम विकास के अन्तर्गत मुख्यमंत्री समग्र ग्राम विकास योजना (अवस्थापना सुविधाएं), मुख्यमंत्री आवास योजना(ग्रामीण), राष्ट्रीय ग्रामीण अजीविका मिशन, महात्मा गाँधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारण्टी योजना, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना, राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल मिशन, धान खरीद, खाद्य एवं रसद के अन्तर्गत राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना, आधार प्रमाणीकरण के माध्यम से खाद्यान्य वितरण की प्रगति के बारे में जानकारी ली, तथा संबंधित विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि अपने-अपने विभाग की योजनाओं के लक्ष्यों को समय से पूर्ण करें।
उन्होंने समीक्षा बैठक में लोक निर्माण विभाग के अन्तर्गत जनपद में नई सड़क का निर्माण, सेतुओं का निर्माण, सड़कों को गड्ढ़ा मुक्त किये जाने आदि, बेसिक शिक्षा विभाग के अन्तर्गत कक्षा 8 तक सभी छात्र-छात्राओं को किताबें/यूनीफार्म/जूता-मोजा, बैग एवं स्वेटर वितरण की स्थिति, विद्युत विभाग की समीक्षा में सरकार की मंशानुरूप रोस्टर के अनुसार विद्युत अपूर्ति, ग्रामों का ऊर्जीकरण, ट्रान्सफार्मरों का प्रतिस्थापन, कृषि विभाग के अन्तर्गत खाद व बीज की उपलब्धता एवं वितरण, फसली ऋण मोचन योजना, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, ग्राम विकास के अन्तर्गत प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण एवं शहरी, बाल विकास एवं पुष्टाहार, पंचायती राज, लघु सिंचाई व वन विभाग आदि की योजनाओं की गहन समीक्षा करते हुए आवश्यक दिशा निर्देश सम्बन्धित अधिकारियों को दिये। बैठक में जिलाधिकारी ने निर्देशित किया कि जन कल्याणकारी योजनाओं/कार्यक्रमों से लाभांवित लाभार्थियों का सत्यापन भी कराया जाये। उन्होंने बैठक में उपस्थित अधिकारियों को निर्देशित किया कि अपने-अपने विभाग की योजनाओं/कार्यक्रमों को पूर्ण करने के लिये विशेष ध्यान दें। यदि कहीं कोई कठिनाई आये तो सीधे मुझ से तत्काल सम्पर्क कर समाधान करायें। जिलाधिकारी ने कहा कि प्रभारी मंत्री/नोडल अधिकारियों द्वारा जो निर्देश दिए गए हैं, उनका शत-प्रतिशत अनुपालन सुनिश्चित करें। सभी अधिकारी अपने-अपने कार्यालय समय से पहुंचे तथा जनता की समस्याओं का मौके पर निस्तारण करना सुनिश्चित करें।

इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी प्रभुनाथ, प्रभागीय वनाधिकारी यूपी सिंह, उपकृषि निदेशक सत्येंद्र चौहान, परियोजना निदेशक(डीआरडीए) आशुतोष दूबे, जिला पंचायत राज अधिकारी, देवेंद्र सिंह, जिला समाज कल्याण अधिकारी, जिला कृषि अधिकारी, अखिलेश पांडेय, अधिशाषी अभियन्ता, लो0नि0वि0/प्रान्तीय खण्ड, अधिशाषी अभियन्ता जल निगम, कार्यदायी संस्थाएं सहित अन्य विभागों के अधिकारीगण आदि मौजूद रहे।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.