Jan Sandesh Online hindi news website

मंत्री अनुराग ठाकुर राज्यसभा में बोले ऐसा 2000 रुपए के नोट को बंद करने के सवाल पर

0

नई दिल्ली। तीन साल पहले मोदी सरकार ने अचानक 500 और 1000 रुपए के नोट बंद कर दिए थे। इसके बाद से ही लोगों में डर बना हुआ है कि कहीं फिर से ऐसा कुछ न हो जाए। तब 2000 रुपए का नोट शुरू किया गया था। अब इन दिनों सोशल मीडिया पर खबर चल रही है कि इसे भी बंद किया जाएगा। हालांकि मंगलवार को राज्यसभा में वित्त और कारपोरेट मामलों के राज्य मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने इसका खंडन कर दिया।

ठाकुर ने कहा कि इस बारे में किसी को भी घबराने की जरूरत नहीं है। ठाकुर ने एक सवाल के जवाब में कहा कि सरकार की फिलहाल 2000 रुपए का नोट बंद करने की कोई योजना नहीं है। एक मैसेज वायरल हो रहा है, जिसमें दावा किया जा रहा है कि 31 दिसंबर से ये नोट बंद होने जा रहे हैं, तो हम आपको बता दें कि ऐसा नहीं होगा और न ही 1 हजार रुपए का नोट मार्केट में आने जा रहा है।

और पढ़ें
1 of 1,109

नए नोट को लेकर हो रही बातें महज अफवाह हैं। समाजवादी पार्टी के सांसद विशम्भर प्रसाद निषाद ने पूछा था कि 2000 रुपए के नोट को लाने से काला धन बढ़ा है। लोगों में धारणा है कि आप 2000 रुपए के नोट को बदलने के लिए 1000 रुपए के नोट को फिर से लाने जा रहे हैं।

इस पर ठाकुर ने कहा कि ब्लैक मनी को खत्म करने, जाली नोट की समस्या से निपटने, आतंकवाद की फंडिंग को खत्म करने के लिए नोटबंदी का फैसला लिया गया था। इसके अलावा गैर औपचारिक अर्थव्यवस्था को औपचारिक अर्थव्यवस्था में रूपांतरित करने और भारत को कम नकदी वाली अर्थव्यवस्था बनाने के लिए डिजिटलीकरण को बढ़ावा देने के मकसद से यह फैसला किया गया था। 4 नवंबर 2016 को 1774187 करोड़ रुपए के नोट सर्कुलेशन में थे, जो 2 दिसंबर 2019 को बढक़र 2235648 करोड़ रुपए पर पहुंच चुके हैं।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.