Jan Sandesh Online hindi news website

आगरा, मथुरा और फिरोजाबाद में एक बार फिर से मोबाइल इंटरनेट की सुविधा बंद

0

संवाद सूत्र 

आगरा/मथुरा: नागरिकता संशोधन कानून को लेकर बवाल रुकने का नाम नहीं ले रहा है। सुरक्षा व्यवस्था को लेकर प्रशासन भी अलर्ट मोड पर है। वहीं सूत्रों के अनुसार जुमे की नमाज के बाद कानून के विरोध में हिंसक प्रदर्शन की आशंका है। इसी वजह से कई दिनों से इंटरनेट बंद की असुविधा कील मार झेल चुके यूपी के तीन जिलों आगरा, मथुरा और फिरोजाबाद में एक बार फिर से मोबाइल इंटरनेट की सुविधा बंद कर दी गई है।

और पढ़ें
1 of 296

इस विषय पर प्रशासन का कहना है कि शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद कानून के विरोध में हिंसक प्रदर्शन की आशंका है। आगरा में आज सुबह 8 बजे से इंटरनेट सेवा बंद है जो शुक्रवार शाम 6 बजे तक बंद रहेगी। फिरोजाबाद और मथुरा में भी शुक्रवार शाम 6 बजे तक के लिए इंटरनेट बंद कर दिया है।

उद्देश्य सीएए को लेकर फैलाई जा रही अफवाहों को रोकना है
आगरा में जिला प्रशासन ने आदेश जारी कर कहा कि इसका उद्देश्य सीएए को लेकर फैलाई जा रही अफवाहों को रोकना है। आदेश में कहा गया है कि शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद एकबार फिर हिंसक प्रदर्शन हो सकते हैं।बता दें कि पिछले हफ्ते शुक्रवार को जुमे कीनमाज के बाद पश्चिमी यूपी के कई जिलों में हिंसा भड़की थी। इस दौरान जगह-जगहतोडफ़ोड़, पथराव और आगजनी कीघटनाएं सामने आई थीं। कानून को लेकर यूपी भर में हुए प्रदर्शन में 16 लोगों की मौत हो गई।

बैंक और सरकारी नेटवर्क सर्विस में इंटरनेट बंदलागू नहीं होगा
आगरा के एडीएम सिटी प्रभाकांत अवस्थी ने बताया, ‘यूपी के अलीगढ़, हाथरस, फिरोजाबाद और दूसरेजिलों में सीएए को लेकर हिंसक प्रदर्शन हो चुके हैं जिसको लेकर सोशल मीडिया परअफवाहें उड़ाई जा रही हैं।कुछ संगठन प्रदर्शन आयोजित कर शहर कीकानून-व्यवस्था को चुनौती दे सकते हैं। सुरक्षा से कोई समझौता नहीं किया जा सकता है। बैंक और सरकारी नेटवर्क सर्विस में इंटरनेट बंद लागू नहीं होगा।

You might also like
Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: