Jan Sandesh Online hindi news website

माने जाते हैं अशुभ हथेली पर ये निशान, हो सकती है अकाल मृत्यु

0

यह बता हम सभी जानते है कि हमारी हाथों की रेखाओं के जरिए भूतकाल, वर्तमान और भविष्य तीनों के बारे में पता लगाया जा सकता है। ज्योतिष के अनुसार, अगर हम अपनी हथेली देखें तो हमें उसमें बहुत से निशान या आकर बनते दिखाई देते हैं।

इन चिन्हों का अपना ही एक अर्थ होता है। इनमें से कुछ चिन्ह हमारे लिए शुभ होते हैं तथा कुछ अशुभ। मगर क्या आप जानते है कि हमारी हथेली में कुछ ऐसे स्थान भी होते हैं जहां क्रॉस का चिन्ह होना अकाल मृत्यु या असमय मृत्यु का सूचक माना जाता है।

और पढ़ें
1 of 1,477

मगर हमारी हथेली में कुछ ऐसे स्थान भी हैं जहां पर क्रॉस के चिन्ह होने से हमें शुभ फल मिलता है। समुद्रशास्त्र के मुताबिक, अगर आपकी हथेली में गुरु पर्वत पर क्रॉस चिन्ह है तो यह आपके लिए बहुत शुभ है। गुरु पर्वत पर यह निशान होने से आपको शिक्षित और समझदार पत्नी मिलती है और वैवाहकि जीवन सुखमय रहता है। इन्हें ससुराल पक्ष से सहयोग एवं सहायता मिलती रहती है।

अगर आपकी विवाह रेखा पर क्रॉस का निशान है तो आपके विवाह में कई तरह की बाधाएं आ सकती हैं। इन लोगों के वैवाहिक जीवन में तनाव रहता है। अगर आपकी जीवन रेखा पर क्रॉस का चिन्ह है तो आपके जीवन में स्वास्थ्य को लेकर उतार चढ़ाव बने रहेंगे। जीवन रेखा के जिस स्थान पर क्रॉस है आयु के उस भाग में मृत्यु तुल्य कष्ट भोगने होंगे।

जिन व्यक्तियों की हथेली में चन्द्रपर्वत पर क्रॉस चिन्ह है। उन्हें नदी, तालाब, समुद्र के आस-पास विशेष सजग रहना चाहिए। क्योंकि ऐसे व्यक्ति की जल में डूबने की आशंका रहती है।

अगर आपकी हथेली में क्रॉस का चिन्ह शनि पर्वत पर है तो यह आपके लिए बहुत ही अशुभ है। क्योंकि शनि पर्वत पर क्रॉस का चिन्ह होने से अक्सर चोट लगती रहती है और अकाल मृत्यु की आशंका रहती है।

मंगल पर्वत पर क्रॉस का अर्थ है कि व्यक्ति को किसी कारण जेल जाना पड़ सकता है। इन व्यक्तियों की आत्महत्या करने की आशंका रहती है। इनका अकाल मृत्यु का भी डर रहता है।

जिनके शुक्र पर्वत पर क्रॉस का निशान है उन्हें प्रेम में असफलता मिलती है और बदनामी सहनी पड़ती है।

अगर आपकी यात्रा रेखा पर क्रॉस का चिन्ह है तो सावधानी से यात्रा करें। क्योंकि यात्रा रेखा पर क्रॉस के चिन्ह को यात्रा के दौरान दुर्घटनाग्रस्त होने का सूचक माना जाता है।

You might also like
Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.