Jan Sandesh Online hindi news website

सबसे ज्यादा कैसे खुश होती है गर्लफ्रेंड, हुआ स्टडी में खुलासा

0

कौन नहीं चाहता कि उसकी गर्लफ्रेंड खुश रहे और हर वक्त उसी के बारे में सोचे। लेकिन इसका तरीका क्या है यह ज्यादातर लोगों को नहीं पता होता। यहां जानते हैं स्टडी में क्या खुलासा हुआ…

और पढ़ें
1 of 86

स्टडी का नतीजा

एक पुरानी कहावत है कि अगर किसी पुरुष के दिल तक पहुंचना है तो इसका रास्ता उसके पेट से होकर जाता है। लेकिन क्या आपको पता है कि यह कहावत महिलाओं पर भी सही बैठती है। फिलाडेल्फिया की ड्रेक्सेल यूनिवर्सिटी और यूनिवर्सिटी ऑफ पेनसिलवेनिया ने एक साझा स्टडी में यह निष्कर्ष निकाला कि जो महिलाएं प्रॉपर तरीके से खाती हैं वे रोमांस में ज्यादा इंट्रेस्टेड रहती हैं बजाय उनके जो भूखी रहती हैं।

भूखे पेट हुआ MRI

यह स्टडी काफी मजेदार तरीके से हुई थी। नॉर्मल वजन वाली फीमेल स्टूडेंट्स से 8 घंटे तक भूखे रहने को कहा गया और उनको कई तस्वीरें दिखाकर एमआरआई स्कैन किया गया।

यह आया नतीजा

मजेदार बात यह थी कि जिन लोगों ने 8 घंटे से कुछ नहीं खाया था उनका निर्जीव तस्वीरों जैसे (स्टैपल, पेड़, बॉलिंग बॉल) के लिए वही रिऐक्शन था जो रोमांटिक तस्वीरों को लेकर। इन तस्वीरों में उन्हें हाथ पकड़े हुए कपल्स, कैंडल लाइट डिनर वगैरह की तस्वीरें दिखाई गई थीं।

खाने के बाद बदला मूड

फिर इन लड़कियों को चॉकलेट शेक दिया गया जिसकी कैलरी लगभग 500 थी फिर यह एक्सपेरिमेंट दोहराया गया।। हैरानी की बात यह रही कि हिस्सा लेने वाली लड़कियों इस बार रोमांटिक तस्वीरों पर काफी स्ट्रॉन्ग रिऐक्शन दिया।

फोकस सिर्फ खाना

शोधकर्ताओं ने यह नतीजा निकाला का भूखी महिलाओं का सबसे पहला फोकस खाना होता है। अगर वे भूखी नहीं हैं तभी किसी और चीज जैसे रोमांस या सेक्स वगैरह पर ध्यान दे पाती हैं।

मीठे से बढ़ेंगे रोमांस के चांस

एक रिसर्च में यह बात भी सामने आई कि अगर आप डेट पर मीठा खाते हैं तो आपके रोमांस करने के चांस बढ़ जाते हैं। आप सोच रहे होंगे कि इसके पीछे लॉजिक क्या है। तो बता दें कि कुछ मीठा खाने से दिमाग में डोपामीन का लेवल बढ़ता है। यह न्यूरोट्रांसमिटर पैशनैट रोमांटिक लव से जुड़ा होता है।

…तो समझ गए न क्या करना है?

वैज्ञानिकों की मानें तो अच्छे लुक्स, महंगे गिफ्ट्स और रोमांटिक लाइनें ये सब पीछे छूट सकते हैं अगर आपकी गर्लफ्रेंड भूखी है। साथ ही खाने के बाद उन्हें स्वीट डिश खिलाना न भूलें।
You might also like
Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।
%d bloggers like this: