Jan Sandesh Online hindi news website

यूपी बोर्ड परीक्षा को सुचितापूर्ण व नकलविहीन ढंग से सम्पन्न कराने के लिए प्रशासन ने कसी कमर

0

और पढ़ें
1 of 1,022

20 सेक्टर व 04 जोन में बंटा जिला, 81 परीक्षा केन्द्रों पर होगी यूपी बोर्ड परीक्षा

बोर्ड परीक्षा में शामिल होेंगें 47473 परीक्षार्थी, नकल कराने वाले परीक्षा केन्द्रों के खिलाफ होगी कठोर कार्यवाही, डीएम ने दी चेतावनी

रिपोर्ट:सैय्यद मकसूदुल हसन

अमेठी। यूपी बोर्ड परीक्षा-2020 को नकलविहीन व पूरी सुचिता के साथ सम्पन्न कराने के लिए जिलाधिकारी अरुण कुमार ने अपर पुलिस अधीक्षक सहित सेक्टर/जोनल व जिले के 81 परीक्षा केन्द्र प्रभारियों के साथ बैठक की। बैठक में जिलाधिकारी ने स्पष्ट कहा कि नकल विहीन परीक्षा सम्पन्न कराना प्रदेश सरकार के एजेन्डे में शामिल है। सभी परीक्षा केन्द्रों के प्रभारी स्पष्ट रूप से यह समझ लें कि यदि किसी भी परीक्षा केन्द्र पर नकल होने या कराए जाने की सूचना मिलेगी तो सम्बन्धित केन्द्र व्यवस्थापक तथा कक्ष निरीक्षक के विरूद्ध एफआईआर दर्ज कराई जाएगी। जिलाधिकारी ने केन्द्र व्यवस्थापकों के साथ बोर्ड परीक्षा की तैयारी बैठक में स्पष्ट चेतावनी दी है कि यदि कोई भी कक्ष निरीक्षक नकल कराने का प्रयास करेगा तो निश्चित ही उसके विरूद्ध कठोर कार्यवाही होगी। उन्होंने निर्देश दिए कि परीक्षा केन्द्रों पर कोई भी परीक्षार्थी किसी भी दशा में मोबाइल, कल्कुुलेटर आदि किसी भी प्रकार का इलेक्ट्रानिक उपकरण कतई नहीं लेे जाएगा तथा गेट पर छात्राओं की तलाशी सिर्फ महिला कक्ष निरीक्षक ही लेगीं। उन्होनें सभी केन्द्र व्यवस्थापकों को यह भी चेतावनी दी है कि परीक्षा समाप्त होने के बाद मुख्यालय कलेक्शन सेन्टर पर कापियां यदि तय समय सीमा के अन्दर नहीं पहुंचेगीं तो इसे नकल में संलिप्तता मानते हुए सम्बन्धित परीक्षा केन्द्र प्रभारी के विरूद्ध कार्यवाही की जाएगी।
जिला विद्यालय निरीक्षक जे.के. वर्मा ने बताया कि जिले में उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की परीक्षा को नकल विहीन ढंग से सम्पन्न कराने के लिए कुुल 81 परीक्षा केन्द्र बनाए गए हैं। बताया कि इस वर्ष बोर्ड परीक्षा में कुल 47473 परीक्षार्थी शामिल होेंगें जिनमें हाईस्कूूल में 27553 तथा इन्टरमीडिएट में 19920 परीक्षार्थी परीक्षा देगें। परीक्षा को सुुचितापूर्ण ढंग से सम्पन्न कराने के लिए जिले को 20 सेक्टर तथा 04 जोनों में विभाजित कर मजिस्ट्रेटों की ड्यूटी लगाई गई है। इसके अलावा नकल को रोकने के लिए पांच सचल दल भी परीक्षा के दौरान लगातार भ्रमणशील रहेगेें। उन्होंने यह भी स्पष्ट किया परीक्षा के दौरान परीक्षा केन्द्रों के निकट के सभी फोटो काॅपी मशीनें व फैक्स मशीनें प्रत्येक दशा में बन्द रहेगीं। इसके अलावा सभी परीक्षा केन्द्रों की आॅनलाइन मानीटरिंग प्रदेश स्तरीय कन्ट्रोल रूम तथा जिले के कन्ट्रोल रूम से की जाएगी तथा जिस विद्यालय का सीसीटीवी कैमरा बन्द पाया जाएगा, उस परीक्षा केन्द्र के खिलाफ एक्शन लिया जाएगा। जिलाधिकारी ने बताया कि बोर्ड परीक्षा के दौरान किसी भी प्रकार की समस्या हेतु जिला स्तर पर जीजीआईसी गौरीगंज में कंट्रोल रूम की स्थापना की गई है जिसका नंबर 9670064907 तथा 9451819069 है, पर फोन कर किसी भी समस्या से अवगत करा सकते हैं। इमरजेन्सी स्वास्थ्य सेवा के लिए जिला प्रशासन द्वारा सभी परीक्षा केन्द्रों को प्राथमिक उपचार किट उपलब्ध कराई जाएगी तथा 108 एम्बुलेन्स सेवा भी परीक्षा के दौरान मुस्तैद रखी जाएगी। बैठक के उपरांत जिलाधिकारी ने जीजीआईसी गौरीगंज स्थित कंट्रोल रूम का निरीक्षण भी किया। कंट्रोल रूम में लगी एलईडी टीवी के माध्यम से केंद्रों पर लगे कैमरों के सक्रिय होने की जानकारी ली। बैठक में अपर जिलाधिकारी वंदिता श्रीवास्तव, अपर पुलिस अधीक्षक दयाराम सरोज, डीआईओएस जे.के. वर्मा, बीएसए विनोद मिश्रा, समस्त सेक्टर/जोनल मजिस्ट्रेट सहित समस्त केन्द्र व्यवस्थापक उपस्थित रहे।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.