Jan Sandesh Online hindi news website

पाकिस्तानी संसद को तुर्की के राष्ट्रपति एर्दोगान ने किया संबोधित

0

इस्लामाबाद। तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तईप एर्दोगान ने शुक्रवार को पाकिस्तानी संसद के संयुक्त सत्र को रिकॉर्ड चौथी बार संबोधित किया। राष्ट्रपति एर्दोगान गुरुवार को दो दिवसीय यात्रा पर पाकिस्तान पहुंचे। डॉन न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक, एर्दोगान ने संसद में कहा, “आज पाकिस्तान और तुर्की के संबंध दूसरों की सराहना के भी पात्र हैं। कठिन समय पर पाकिस्तान ने तुर्की का समर्थन किया है।”

पाकिस्तानी कवि अल्लामा इकबाल की एक कविता का हवाला देते हुए एर्दोगान ने कहा, “हां, लाहौर के कवि की तरह लोग इन भावनाओं में डूबे, पाकिस्तान के लोगों ने तुर्की का समर्थन किया। हम इसे कभी नहीं भूल सकते।”

नेशनल असेंबली के स्पीकर असद कैसर ने एर्दोगान का स्वागत करते हुए सत्र की शुरूआत की। उन्होंने कहा कि वह पाकिस्तान के सच्चे दोस्त और भाई हैं।

और पढ़ें
1 of 833

उन्होंने ‘कश्मीर मुद्दे पर तुर्की के राष्ट्रपति को उनके स्पष्ट और न्यायपूर्ण रुख के लिए’ धन्यवाद दिया। एर्दोगान ने भी कश्मीर पर पाकिस्तान के रुख का समर्थन किया।

इस अवसर पर सशस्त्र बलों के सदस्य, सरकारी प्रतिनिधि, संघीय मंत्री और विपक्षी सदस्य मौजूद थे।

प्रधानमंत्री इमरान खान, नेशनल असेंबली के स्पीकर असद कैसर और सीनेट के अध्यक्ष सादिक संजरानी ने संसद पहुंचने पर तुर्की के राष्ट्रपति की अगवानी की।

एर्दोगान गुरुवार को इस्लामाबाद पहुंचे। इमरान खुद ड्राइव कर राष्ट्रपति व तुर्की की प्रथम महिला एमीन एर्दोगान को हवाई अड्डे से प्रधानमंत्री हाउस तक ले गए।

तुर्की के नेता ने आखिरी बार 2016 में पाकिस्तान का दौरा किया था। तब भी उन्होंने संसद को संबोधित किया था।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.