Jan Sandesh Online hindi news website

कर दी दोस्त की हत्या कहा अमरूद पर नमक डालने को तो

0

दनकौर: दनकौर कोतवाली क्षेत्र के चचूला गांव निवासी एक व्यक्ति की करीब 22 दिन पहले हत्या कर दी गई थी। इस मामले का शुक्रवार को दनकौर पुलिस ने खुलासा किया है। पुलिस ने बताया कि मृतक के दोस्त ने ही अमरूद पर नमक डालने को लेकर हुए विवाद में ईंट मारकर हत्या कर दी थी। हत्या के बाद शव को कमरे में बंद करके वह फरार हो गया था। पुलिस ने आरोपित शख्स को गुरुवार रात गिरफ्तार कर लिया। उसकी निशानदेही से हत्या में इस्तेमाल ईंट भी बरामद कर ली गई है। पुलिस ने शुक्रवार को उसे कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया।

कोतवाली पुलिस ने बताया कि 28 जनवरी की सुबह सूचना मिली थी कि मोहम्मदपुर गुर्जर गांव के पास एक कमरे में किसी व्यक्ति का शव पड़ा है। पुलिस मौके पर पहुंची और शव को बाहर निकाला। मृतक की पहचान चचूला गांव निवासी विपिन नागर (37) के रूप में हुई थी। पुलिस ने पीड़ित परिवार की शिकायत पर अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया था। जांच में पुलिस को पता चला कि गुलावठी थाना क्षेत्र के नवादा गांव निवासी सचिन उर्फ लाला उर्फ सत्यवीर नाम के शख्स ने विपिन की हत्या की है। इसके बाद से पुलिस उसकी तलाश में लगी थी। गुरुवार रात पुलिस को सूचना मिली कि सचिन खेरली नहर के पास खड़ा है। इसके बाद पुलिस ने मौके पर जाकर उसे धर दबोचा।

ईंट मारकर की थी हत्या

पूछताछ में सचिन ने बताया कि 24 जनवरी की शाम वह विपिन के साथ उसके खेतों पर गया था। जहां शराब पीने के दौरान विपिन ने उससे अमरूद पर नमक डालने को कहा था। इसी बात को लेकर उसे गुस्सा आ गया। कहासुनी होने पर उसने ईंट उठाकर विपिन के सिर पर 3 वार कर दिए थे। जिससे विपिन बुरी तरह लहूलुहान हो गया। इसके बाद वह विपिन को कमरे में बंद करके फरार हो गया था। ज्यादा खून बहने से विपिन की मौत हो गई थी। घटना के 4 दिन बाद 28 जनवरी को परिवार के लोगों को कमरे में शव मिला था। डीसीपी राजेश कुमार ने बताया कि सचिन ने विपिन नागर की ईंट मारकर हत्या करने की बात कबूल की है।

15 साल पुरानी दोस्ती का कर दिया कत्ल

विवेक कुमार, दनकौर: विपिन नागर अपने माता-पिता का इकलौता बेटा था। बताया जाता है कि उसकी शराब पीने से आदत से परेशान होकर उसकी पत्नी भी उसे कई साल पहले छोड़कर चली गई थी। विपिन की गुलावठी निवासी सचिन से करीब 15 साल पुरानी दोस्ती थी। पुलिस ने बताया कि सचिन की ग्रेटर नोएडा में दुकान थी। विपिन अक्सर उसके यहां ही रहता था। परिवार का कहना है कि सचिन ने विपिन की बेरहमी से हत्या करके 15 साल पुरानी दोस्ती का कत्ल किया है। परिवार का कहना है कि सिर में ईंट मारने के बाद विपिन को खून से लथपथ देख भी उसका दिल नहीं पसीजा। वह उसे कमरे में बंद करके भाग गया। जिसके चलते विपिन की तड़प-तड़पकर मौत हो गई।

You might also like
Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.