Jan Sandesh Online hindi news website

आईसीएआर की बड़ी भूमिका देश को खाद्यान्नों के मामले में आत्मनिर्भर बनाने में : तोमर

0

नई दिल्ली। केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने सोमवार को कहा कि देश को खाद्यान्नों के मामले में आत्मनिर्भर बनाने में भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद (आईसीएआर) की बड़ी भूमिका रही है। उन्होंने कहा कि आईसीएआर के अनुसंधानों से देश में कृषि के क्षेत्र में बड़ा बदलाव आया है। तोमर यहां की भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद (आईसीएआर) की 91वीं सालाना आम बैठक को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा, “देश के कृषि उत्पादों की पैदावार बढ़ाने में आईसीएआर द्वारा किए गए अनुसंधानों की अहम भूमिका रही है। देश को खाद्यान्न के उत्पादन में आत्मनिर्भर बनाने में वैज्ञानिकों को किए गए अनुसंधानों से मदद मिली है।”

और पढ़ें
1 of 1,139

उन्होंने किसानों के बीच आईसीएआर की हालिया प्रौद्योगिकी को लेकर जागरूकता बढ़ाने पर बल दिया और कहा कि नवीनतम प्रौद्योगिकी का उपयोग करने से किसानों की आम बढ़ेगी।

तोमर ने भी किसानों की आदमनी 2022 तक दोगुनी करने के लक्ष्य का हासिल करने में आईसीएआर के योगदान की जरूरत बताई।

इस मौके पर रेलमंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि जल्द खराब होने वाले कृषि उत्पाद ‘किसान रेल’ के माध्यम से देश के कोने-कोने से बड़े बाजारों में पहुंचेंगे और किसानों को उनकी उपज का अच्छा भाव मिलेगा। उन्होंने देश में कृषि क्षेत्र के विकास में आईसीएआर के वैज्ञानिकों व अनुसंधानकतार्ओं के योगदान की सराहना की।

उन्होंने वैज्ञानिकों से ऐसे समाधान व सुझाव देने की अपील की, जिससे देश के कोने-कोने से ताजा फल, सब्जी समेत जल्दी खराब होने वाले अन्य उत्पादों को किसान रेल के जरिए देश के बड़े बाजारों तक पहुंचाया जा सके।

मंत्री ने आईसीएआर के वैज्ञानिकों से ऐसे समाधान विकसित करने को कहा, जिससे किसानों की खेती की लागत कम हो और उन्हें फसलों का अच्छा दाम मिले, जिससे 2022 तक किसानों की आमदनी दोगुनी करने के लक्ष्य को हासिल किया जा सके।

इस मौके पर केंद्रीय सांख्यिकी, कार्यक्रम कार्यान्वयन एवं योजना राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार राव इंद्रजीत सिंह ने आईसीएआर के वैज्ञानिकों से पानी की अधिक खपत वाली फसलों के बजाय कम पानी की खपत वाली फसलों की खेती लाभकारी बनाने की दिशा में काम करने की अपील की।

वहीं केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण राज्यमंत्री कैलाश चौधरी ने बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि देश को 50 खरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने में कृषि एवं संबंधित क्षेत्र की अहम भूमिका होगी। लिहाजा, खेती को लाभकारी बनाने की दिशा में सरकार काम कर रही है, जिसमें आईसीएआर का अहम योगदान है।

गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने अगले पांच साल में देश को 50 खरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने का लक्ष्य रखा है।

You might also like
Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.