Jan Sandesh Online hindi news website

योगी सरकार सख्त, तबलीगी जमात के लोगों पर कार्रवाई, 211 विदेशियों के पासपोर्ट जब्त, 7177 एफआईआर दर्ज

Share
लखनऊ । तबलीगी जमात के लोगों खिलाफ अब उत्तर प्रदेश सरकार सख्त कार्रवाई कर रही है। अभी तक कुल 7,177 एफआईआर दर्ज हुई है। प्रदेश में कुल 287 विदेशी नागरिकों को पकड़ा गया है, जिसमें से 211 के पासपोर्ट जब्त कर लिए गए हैं। तबलीगी जमात के कार्यक्रम में शामिल हुए लोगों में यूपी के [...]
0
Share

लखनऊ । तबलीगी जमात के लोगों खिलाफ अब उत्तर प्रदेश सरकार सख्त कार्रवाई कर रही है। अभी तक कुल 7,177 एफआईआर दर्ज हुई है। प्रदेश में कुल 287 विदेशी नागरिकों को पकड़ा गया है, जिसमें से 211 के पासपोर्ट जब्त कर लिए गए हैं। तबलीगी जमात के कार्यक्रम में शामिल हुए लोगों में यूपी के 429 लोगों का सैंपल भेजा गया है। उत्तर प्रदेश में फिलहाल कोरोना वायरस के कुल 121 संक्रमित पाए गए हैं।

और पढ़ें
1 of 881

यूपी के अडिशनल चीफ सेक्रेटरी (गृह) अवनीश अवस्थी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके बताया, ‘उत्तर प्रदेश में अभी तक कुल 121 लोग कोरोना से संक्रमित हुए हैं। तबलीगी जमात से जुड़े 429 लोगों के सैंपल टेस्टिंग के लिए भेजे गए हैं। राज्य में कोरोना के मामले बहुत तेजी से नहीं बढ़ रहे हैं, कल से सिर्फ 8 ही मामले सामने आए हैं।

अवनीश अवस्थी ने यह भी बताया, ‘अभी तक कुल 7177 एफआईआर दर्ज की गई है। उत्तर प्रदेश में 287 विदेशी नागिरक पकड़े गए हैं। इनमें से 211 के पासपोर्ट सीज कर दिए हैं।’ इससे पहले लखनऊ में कई विदेशी नागरिकों को पकड़ा गया था, जिन्होंने दिल्ली के निजामुद्दीन में हुए तबलीगी जमात के कार्यक्रम में हिस्सा लिया था। इन लोगों के खिलाफ वीजा नियमों का उल्लंघन करने का आरोप है।

90 के दशक में बच्चों के फेवरेट सीरियल रहे ‘शक्तिमान’ में मुख्य किरदार निभाने वाले मुकेश खन्ना का कहना है कि कोरोना से बचाव के अलावा लॉकडाउन से एक फायदा यह भी है कि पूरा परिवार एकसाथ बैठकर बात कर सकता है। एनबीटी ऑनलाइन से बातचीत में मुकेश ने तबलीगी जमात पर भी खुलकर बात की।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिया है कि जितने भी लोग सीधे तौर पर कोरोना वायरस संक्रमण से लड़ने में मदद कर रहे हैं, उनको डॉक्टरों, पैरामेडिकल स्टाफ, एएनएम, नर्सों और आशा को प्रशिक्षण दिया जाए। इन सब की मदद से घर-घर जानकारी पहुंचाई जाए कि कैसे इस संक्रमण से बचाव करना है। सीएम योगी ने कहा, ‘संक्रमण से बचने का सबसे अच्छा तरीका है …. सावधान रहना। सावधान रहकर, हाथ धोकर और सामाजिक मेलजोल में कमी करके हम इसका मुकाबला कर सकते हैं।’

प्रमुख सचिव (चिकित्सा और स्वास्थ्य) अमित मोहन प्रसाद ने कहा कि हम लोगों को उनके घरों तक सीमित रख रहे हैं और इससे संक्रमित लोगों की संख्या में तेजी से वृद्धि नहीं हो रही है। उन्होंने कहा, ‘तीन-चार दिन पहले तक एक दिन में 19-20 मरीज सामने आ रहे थे लेकिन बुधवार से गुरुवार तक केवल आठ मामले आए हैं। बुधवार को भी केवल 12 मामले आए थे।’

इंदौर में कुछ ऐसा ही वाकया देखने को मिला जब एक शख्स की जांच करने पहुंचे स्वास्थ विभाग की टीम पर लोगों ने पथराव कर दिया। इंदौर के ताटपट्टी भक्खल में हेल्थ वर्कर कोरोना वायरस के फैलाव को देखते हुए एक शख्स की जांच करने गए थे। लेकिन स्थानीय लोगों ने उल्टे ही उनपर पथराव कर दिया। इस मामले में एक एफआईआर भी दर्ज की गई है। स्थानीय लोगों का कहना था कि यहां कोई भी कोरोना पीड़ित नहीं है।

कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए जारी लॉकडाउन का पालन कराने के लिए पुलिस और प्रशासन मुस्तैद है। सभी लोग स्वस्थ रहें, इसलिए वर्दी में लोग दिन-रात सड़कों पर मुस्तैद हैं। लेकिन उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में कुछ लोगों को घरों में रहने की नसीहत इतनी नागवार गुजरी कि उन्होंने पुलिसकर्मियों पर हमला कर दिया। इस हमले में एक सब इंस्पेक्टर और एक कॉन्स्टेबल घायल हो गए हैं।

दिल्ली के निजामुद्दीन में तबलीगी जमात में कई लोगों के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद भी कई मस्जिदों में इसी तरह के जमात की खबरें आ रही हैं। ऐसी ही एक सूचना के आधार पर मंगलवार की देर रात मधुबनी पुलिस तहकीकात करने पहुंची थी। लेकिन मस्जिद में मौजूद लोगों ने पुलिस पर ना सिर्फ पथराव किया बल्कि फायरिंग भी कर दी। तबलीगी जमात समर्थकों के हमले के बाद बीडीओ और थानेदार वहां से जान बचाकर भाग निकले थे। लेकिन हिंसा पर उतारू हमलावरों ने प्रशासन की एक गाड़ी में तोड़फोड़ कर उसे तालाब में गिरा दिया। पुलिस में मामले में कार्रवाई करते हुए 15 लोगों के खिलाफ नामजद FIR करते हुए 4 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।

बुधवार को मुंगेर में संदिग्‍ध मरीजों की जांच के लिए पहुंची मेडिकल टीम पर हमला हो गया। यहां एक बच्‍ची की मौत के बाद टीम उसके परिवार को होम क्‍वारंटीन में रखने और जांच के लिए गई थी। हंगामा होने के बाद जब पुलिस बुलाई गई थी तो उसकी गाड़ी पर भी स्‍थानीय लोगों ने पथराव किया। बिहार में कोरोना वायरस की जांच को लेकर पत्‍थरबाजी के कई मामले हो चुके हैं।
मध्य प्रदेश के इंदौर में मेडिकल टीम पर हमला

प्रसाद ने कहा, ‘जनता का अपार सहयोग मिल रहा है। केवल स्वास्थ्य विभाग ही नहीं बल्कि सभी विभागों के अधिकारी कर्मचारी इसमें जोर-शोर से लगे हुए हैं। चाहे वह लॉकडाउन को सफल बनाना हो, या फिर सामाजिक मेलजोल से दूरी बनाकर रखना।’ उन्होंने कहा कि संदिग्धों को अलग करके उनकी जांच हो और उसके बाद अगर जरूरत पड़े तो उनका उपचार हो, इसमें पूरे प्रदेश के अधिकारियों और कर्मचारियों का सहयोग मिल रहा है और उसी का नतीजा है कि अभी तक सिर्फ 16 जिले ही प्रभावित हुए हैं।

You might also like
Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।
%d bloggers like this: