Jan Sandesh Online hindi news website

CM योगी ने राज्यों में फंसे कामगारों व मजदूरों से की अपील, कहा-धैर्य रखें, वापसी के लिए बनाई जा रही कार्ययोजना

0
Share

CM योगी आदित्यनाथ की प्रवासी मजदूरों से अपील- धैर्य रखें, वापसी के लिए बनाई जा रही कार्ययोजना
Lucknow News in Hindi
CM योगी आदित्यनाथ की प्रवासी मजदूरों से अपील- धैर्य रखें, वापसी के लिए बनाई जा रही कार्ययोजनामुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

और पढ़ें
1 of 881

लखनऊ. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने अलग-अलग राज्यों में फंसे कामगारों व मजदूरों से अपील की है कि वे वर्तमान में जिस जगह पर हैं वहीं रहें और धैर्य का परिचय दें, मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर कहा है कि मजदूर व कामगार पैदल न चलें. राज्य सरकारों से वार्ता कर सभी फंसे हुए लोगों की वापसी के लिए कार्ययोजना बनाई जा रही है. इसी संबंध में मुख्यमंत्री ने गुरुवार को अपनी टीम 11 के साथ बैठक कर रणनीति भी बनाई. साथ ही अधिकारियों को जरुरी दिशा निर्देश भी दिए

गुरुवार को मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर लिखा, “सभी प्रवासी कामगार व श्रमिक बहनों-भाइयों से अपील है कि जिस धैर्य का परिचय आप सभी ने अभी तक दिया है उस धैर्य को बनाए रखें. पैदल न चलें. जिस राज्य में है वहां की सरकार से संपर्क में रहें. आप सभी की सुरक्षित वापसी के लिए संबंधित राज्य सरकार से वार्ता कर कार्ययोजना बनाई जा रही है.”

टीम 11 के साथ बैठक कर वापसी पर की चर्चा

इससे पहले गुरुवार को टीम 11 के साथ बैठक कर सीएम योगी आदित्यनाथ ने श्रमिकों व कामगारों की वापसी को लेकर रणनीति पर चर्चा की. देश के विभिन्न राज्यों में फंसे उत्तर प्रदेश के कामगारों एवं श्रमिकों को सुरक्षित घरों तक पहुंचाने के लिए राजस्व विभाग को उचित दिशा निर्देश भी दिया. उन्होंने 6 लाख लोगों के लिए क्वारंटीन सेंटर, शेल्टर होम और कम्युनिटी किचन तैयार करने का निर्देश दिया.

सभी मजदूरों व कामगारों की मांगी गई रिपोर्ट

बता दें यूपी सरकार ने सभी राज्यों को पत्र लिख कर यूपी के कामगारों और श्रमिकों की विस्तृत ब्यौरा मांगा है. सभी का नाम, पता और मोबाइल नंबर के साथ ही मेडिकल रिपोर्ट भी मांगी गई. दरअसल, गृह मंत्रालय ने भी बुधवार को नई गाइडलाइन जारी करते हुए यह कहा था कि दुसरे राज्यों में फंसे, श्रमिक, कामगार, पर्यटक व छात्रों को मेडिकल रिपोर्ट के आधार पर निकाला जा सकता है. हालांकि यूपी सरकार ने इसकी शुरुआत पहले ही कर दी थी. कोटा से छात्रों को निकलने के बाद प्रयागराज में फंसे प्रतियोगी छात्रों को भी उनके घर पहुंचाया गया है.

चरणबद्ध तरीके से होगी वापसी

बता दें योगी सरकार अलग-अलग राज्यों से श्रमिकों, कामगारों व छात्रों को चरणबद्ध तरीके से वापसी करा रही है. इससे पहले हरियाणा से फंसे कामगारों व मजदूरों को लाया गया है. गुरुवार से मध्य प्रदेश में फंसे लोगों को लाने की प्रक्रिया शुरू होगी. उसके बाद गुजरात श्रमिक और कामगार यूपी लाए जाएंगे. यूपी पहुंचने पर भी सभी लोगों को 14 दिन की क्वारंटाइन अवधि को पूरा करना होगा. इसके लिए सभी जिलूँ में शेल्टर होम बनाने के निर्देश दिए जा चुके हैं.

You might also like
Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।
%d bloggers like this: