Jan Sandesh Online hindi news website

उमा भारती शरद पवार के राम मंदिर से कोरोना को जोड़कर दिए बयान पर बोली….

0

नई दिल्ली। राकांपा अध्यक्ष शरद पवार के हाल में कोरोना को राम मंदिर से जोड़कर दिए एक बयान से राजनीति गर्म हो गई है। अब भाजपा नेता उमा भारती ने एक मुद्दे पर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने साफ कह दिया कि शरद पवार का सवाल भगवान राम के खिलाफ है। उमा भारती ने मीडिया से बात करते हुए कहा, ‘शरद पवार का बयान भगवान राम के खिलाफ है, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नहीं।’ बता दें कि शरद पवार ने बीते दिन बड़ा बयान देते हुए कहा था कि राम मंदिर बनाने से कोरोना नहीं जाएगा।

मध्य प्रदेश की पूर्व सीएम उमा ने कहा कि अगर 2 घंटे पीएम वहां(अयोध्या) पहुंच जाएंगे, तो कौन सी अर्थव्यवस्था बिगड़ जाएगी। पीएम वह व्यक्ति हैं, जो 4 घंटे से ज्यादा नहीं सोते और 24 घंटे काम करते हैं। आज तक कोई छुट्टी नहीं ली है। हवाई जहाज में भी वह काम करते हुए जाएंगे, मुझे उनका स्वभाव मालूम है। अगर भगवान राम को 2 घंटे दे देंगे, तो क्या हो जाएगा।

और पढ़ें
1 of 5,488

पवार ने कहा था, ‘कुछ लोग सोचते हैं कि राम मंदिर बनने से कोरोना खत्म हो जाएगा। सरकार को इसके बजाय लॉकडाउन से हुए नुकसान की चिंता करनी चाहिए।’ महाराष्ट्र की महाविकास अघा़़डी सरकार में शामिल राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के मुखिया शरद पवार रविवार को सोलापुर में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। कोरोना के हालात का जायजा लेने सोलापुर गए पवार से पत्रकारों ने जब अयोध्या में राम मंदिर निर्माण की तिथि निर्धारित हो जाने से संबंधित सवाल पूछे तो पवार ने कहा था कि हमें तय करना होगा कि कौन सा काम कितना महत्वपूर्ण है। कोरोना के हालात दिन पर दिन बदतर होते जा रहे हैं, लेकिन कुछ लोग सोचते हैं कि राम मंदिर बनने से कोरोना देश से बाहर चला जाएगा। उन्होंने केंद्र सरकार को नसीहत देते हुए कहा कि सरकार को पहले लॉकडाउन से हुए नुकसान की चिंता करनी चाहिए।

प्रधानमंत्री बनने के बाद वह पहली बार

रामनगरी अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र की बैठक के बाद अब प्रधानमंत्री कार्यालय ने रामनगरी में भव्य राम मंदिर के निर्माण के लिए भूमि पूजन के कार्यक्रम की तारीख पर भी मुहर लगा दी है। प्रधानमंत्री कार्यालय ने पांच अगस्त को पीएम नरेंद्र मोदी के अयोध्या में श्रीराम मंदिर के लिए भूमि पूजन का कार्यक्रम तय किया है। श्रीराम मंदिर भूमि पूजन के लिए पांच अगस्त की तारीख तय हुई है। देश के प्रधानमंत्री बनने के बाद पहली बार नरेंद्र मोदी अयोध्या जाएंगे। भूमि पूजन में श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास लगभग 40 किलो चांदी की श्रीराम शिला समर्पित करेंगे। पीएम नरेंद्र मोदी इस शिला का पूजन करेंगे और इसे स्थापित करेंगे।

नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बनने के बाद वह पहली बार अयोध्या पहुंच रहे हैं, जो कि भूमिपूजन की वजह से ऐतिहासिक तिथि में शुमार होगा। वह अयोध्या में करीब तीन घंटे गुजारेंगे। शनिवार को ट्रस्टियों की बैठक में निर्णय के बाद श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने तीन और पांच अगस्त की दो संभावित तिथियों का विकल्प देते हुए उनसे भूमिपूजन का अनुरोध किया था। प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से इन्हीं दो में से पांच अगस्त की तारीख भूमिपूजन के लिए तय की गई है।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.