Jan Sandesh Online hindi news website

SGPGI में भर्ती कानून मंत्री ब्रजेश पाठक, कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव

0

लखनऊ। प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार के कैबिनेट मंत्री ब्रजेश पाठक को सांस लेने में तकलीफ होने पर रविवार को संजय गांधी पीजीआइ में भर्ती कराया गया है। पत्नी नम्रता पाठक के कोरोना वायरस संक्रमण की चपेट में आने के बाद कानून मंत्री भी संक्रमित हैं। ब्रजेश पाठक अभी तक होम आइसोलेशन में थे।

कानून-न्याय तथा ग्रामीण अभियंत्रण मंत्री ब्रजेश पाठक को रविवार को सुबह सांस लेने में तकलीफ होने पर तत्काल संजय गांधी पीजीआई में भर्ती कराया गया है। जहां पर सरकार के चार मंत्री तथा नेता प्रतिपक्ष पहले से ही भर्ती हैं।

और पढ़ें
1 of 2,101

मंत्री ब्रजेश पाठक की बुधवार को कोरोना वायरस संक्रमण की पॉजिटिव रिपोर्ट आई थी। इसके बाद वह होम आइसोलेशन में थे। आज सांस लेने में तकलीफ होने पर उनको संजय गांधी पीजीआइ में भर्ती कराया गया है। वहां पर उनको आइसीयू में रखा गया है। जहां पर हालत स्थिर बताई जा रही है। उधर लखनऊ के साथ ही हरदोई तथा उन्नाव में ब्रजेश पाठक के शीघ्र स्वस्थ होने को लेकर प्रार्थना तथा दुआएं हो रही हैं।

प्रदेश के नौवें मंत्री

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार के नौ मंत्री कोरोना वायरस संक्रमण की चपेट में हैं। नौवें मंत्री ब्रजेश पाठक हैं। इनसे पहले जल शक्ति मंत्री डॉक्टर महेंद्र सिंह कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। उनको भी संजय गांधी पीजीआइ में भर्ती कराया गया है। कैबिनेट मंत्री राजेंद्र प्रताप उर्फ मोती सिंह, होमगार्ड मंत्री चेतन चौहान, स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह तथा खेल मंत्री उपेंद्र तिवारी भी संजय गांधी पीजीआइ में भर्ती हैं।

इनसे पहले आयुष मंत्री धर्म सिंह सैनी भी परिवार सहित संक्रमित हो गए थे। उनको सहारनपुर में भर्ती कराया गया है जबकि मंत्री रघुराज सिंह भी कोरोना वायरस से संक्रमित हैं। इसके अलावा बीते रविवार को कोरोना वायरस की चपेट में आने के कारण कैबिनेट मंत्री कमल रानी वरुण का निधन हो गया था। वह योगी आदित्यनाथ सरकार में प्राविधिक शिक्षा मंत्री थीं।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.