Jan Sandesh Online hindi news website

मुख्यमंत्री योगी ने प्रतियोगी परीक्षाओं के दौरान सामाजिक दूरी सुनिश्चित करने के निर्देश दिए …

0

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य के सभी अधिकारियों को प्रतियोगी परीक्षाएं आयोजित करने के दौरान सामाजिक दूरी मानदंडों को सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा है कि राज्य में प्रवेश परीक्षाओं के दौरान विशाल जमावड़े की अनुमति नहीं होनी चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि यदि आवश्यकता हुई तो और परीक्षा केंद्रों की स्थापना की जानी चाहिए। बता दें कि कल उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (यूपीपीएससी) ने खंड शिक्षा अधिकारी (बीईओ) परीक्षा आयोजित की, जिसमें मात्र 44 प्रतिशत उम्मीदवार उपस्थित हुए। प्रदेश के 18 जिलों के 1127 केंद्रों पर दोपहर 12 से 2 बजे की शिफ्ट में परीक्षा आयोजित की गई थी। आयोग के सचिव ने बताया कि खंड शिक्षा अधिकारी परीक्षा के लिए 5,28,314 उम्मीदवारों ने रजिस्ट्रेशन कराया था, जिसमें से 2,33,393 उम्मीदवार शामिल हुए।

और पढ़ें
1 of 2,090

लखनऊ के जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने परीक्षा आयोजित करने के दौरान एक केंद्र का दौरा किया। उन्होंने सामाजिक दूरी का पालन करने लेकर  अधिकारियों को निर्देश दिया था कि एक कमरे में निश्चित संख्या में, यानी कुछ अभ्यर्थियों को ही बैठने की अनुमति दी जानी चाहिए।  यह उनके अनुसार आवश्यक था, ताकि सुरक्षा के मद्देनजर सामाजिक दूरियों के मानदंडों का पालन किया जा सके। जिलाधिकारी ने यह भी बताया कि परीक्षा के दौरान उम्मीदवारों को फेस मास्क पहनना अनिवार्य किया गया था।

बता दें कि हाल ही में उत्तर प्रदेश शिक्षा विभाग ने राज्य में कोविड-19 के बढ़े हुए मामलों के बावजूद बीएड प्रवेश परीक्षा आयोजित की थी। शिक्षा विभाग के सचिव के अनुसार, कोरोनोवायरस महामारी के बीच सफलता पूर्वक परीक्षा आयोजित करना महामारी के खिलाफ एक जीत माना गया था। बता दें कि राज्य में कई प्रतियोगी परीक्षाओं का आयोजन किया जाता है। जैसा कि राज्य सरकार ने पहले सूचित किया था कि स्थिति अनुकूल होने से पहले कोई परीक्षा आयोजित नहीं की जाएगी। कई लोक सेवा आयोग की परीक्षाएं स्थगित कर दी गई हैं। अब उम्मीदवार जल्द ही परीक्षाएं आयोजित होने की उम्मीद कर रहे हैं।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.