Jan Sandesh Online hindi news website

20 अगस्त को स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 के परिणामों की घोषणा करेंगा पीएम मोदी, सबसे साफ शहर होंगे सम्मानित

सबसे साफ शहर होंगे सम्मानित

0

नई दिल्ली, एएनआइ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 20 अगस्त को ‘स्वच्छ सर्वेक्षण 2020’ के परिणामों की घोषणा करेंगे। यह देश के वार्षिक स्वच्छता सर्वेक्षण का पांचवा संस्करण है। कार्यक्रम में शीर्ष 129 शहरों और राज्यों को स्वच्छ महोत्सव शीर्षक से कुल 129 पुरस्कार दिए जाएंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 20 अगस्त को स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 के परिणामों की घोषणा करेंगे। सबसे साफ शहर को सम्मानित किया जाएगा।

प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) के अनुसार प्रधानमंत्री देश के विभिन्न हिस्सों से स्वच्छ भारत मिशन-शहरी (एसबीएम-यू) के तहत चुनिंदा लाभार्थियों, स्वच्छाग्रहियों, और सफाईकर्मियों के साथ बातचीत करेंगे। उन्होंने कहा कि वह इस अवसर पर स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 के परिणाम डैशबोर्ड पर लॉन्च करेंगे।

और पढ़ें
1 of 3,354

स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 दुनिया का सबसे बड़ा स्वच्छता सर्वेक्षण है, जिसने कुल 4,242 शहरों, 62 छावनी बोर्डों, और 92 गंगा शहरों की रैंकिंग की और 1.87 करोड़ नागरिकों ने भागीदारी की। यह आयोजन भारत सरकार के आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय (MoHUA) द्वारा आयोजित किया जा रहा है। स्वच्छ सुर्वेक्षण को सरकार द्वारा  बड़े पैमाने पर नागरिक भागीदारी के उद्देश्य के साथ पेश किया गया था, इससे भारत के सबसे स्वच्छ शहर बनने की दिशा में शहरों के बीच स्वस्थ प्रतिस्पर्धा की भावना पैदा हुई।

MoHUA ने जनवरी 2016 में रेटिंग के लिए 73 प्रमुख शहरों के लिए स्वच्छ सर्वेक्षण का आयोजन किया था, इसके बाद 434 शहरों की रैंकिंग के लिए जनवरी-फरवरी 2017 में स्वच्छ सर्वेक्षण आयोजित हुआ। स्वच्छ सर्वेक्षण 2018, जो कि, 4,203 शहरों को शामिल किया गया। इसके बाज 2019 में सर्वेक्षण ने ना केवल 4,237 शहरों को कवर किया, बल्कि यह 28 दिनों के रिकॉर्ड समय में पूरा किया गया पहला डिजिटल सर्वेक्षण भी था।

स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 में, शहरों के ऑन-ग्राउंड प्रदर्शन का निरंतर मूल्यांकन और स्थिरता सुनिश्चित करने के लिए, सरकार ने स्वच्छ सर्वेक्षण लीग की शुरुआत की। पीएमओ ने कहा कि हर गुजरते साल के साथ नागरिकों की बढ़ती भागीदारी इस बात की गवाही है कि आम नागरिक ने अपने शहरों के स्वछता पर पूर्ण स्वामित्व लिया है।

स्वच्छ सुर्वेक्षण ने आज ‘स्वछता’ को प्रेरणा और गौरव की चीज बना दिया है। जबकि मैसूरु ने सर्वेक्षण के पहले संस्करण में भारत के सबसे स्वच्छ शहर का पुरस्कार जीता था, इंदौर ने लगातार तीन वर्षों (2017,2018, 2019) के लिए शीर्ष स्थान बरकरार रखा है।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.