Jan Sandesh Online hindi news website

जय के फरार तीनों भाइयों पर 25 हजार का इनाम, गैंगस्टर के मुकदमे में हैं नामजद

गैंगस्टर के मुकदमे में हैं नामजद

0

कानपुर गैंगस्टर के मुकदमे में नामजद जय बाजपेयी के तीनों भाइयों पर पुलिस ने 25-25 हजार रुपये इनाम घोषित किया है। मुकदमा दर्ज होने के बाद से जय बाजपेयी के तीनों भाई फरार हैं। नजीराबाद पुलिस ने जय के भाइयों की तलाश में सोमवार रात ही उसके आवास में छापा मारा था, लेकिन वह नहीं मिले।

कानपुर की नजीराबाद थाना पुलिस ने सोमवार की रात में घर पर दबिश दी थी लेकिन तलाशी लेने पर कोई नहीं मिला था।
और पढ़ें
1 of 2,271

नजीराबाद पुलिस ने 30 अगस्त को थाने पर जय बाजपेयी के खिलाफ गैंगस्टर की धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस ने जय के गिरोह में उसके भाइयों रजयकांत बाजपेयी, शोभित बाजपेयी और अजयकांत बाजपेयी को भी शामिल करते हुए सह अभियुक्त बनाया था। जय पहले से ही जेल में है, जबकि उसके तीनों भाई मुकदमा दर्ज होने के बाद से फरार हैं। कई बार पुलिस ने इनके ठिकानों पर छापेमारी की, लेकिन उनका कोई पता नहीं चला। एसएसपी डॉ. प्रीतिंदर सिंह ने बताया कि तीनों फरार अभियुक्तों के खिलाफ 25-25 हजार रुपये इनाम घोषित किया गया है।

जय के साथियों ने वकील को दी धमकी

बिकरू कांड में जेल गए कारोबारी जय बाजपेई के ग्वालटोली निवासी साथियों ने वकील को जान से मारने की धमकी दी है। वकील आशीष कुमार पांडेय के मुताबिक ब्रह्मनगर निवासी वकील सौरभ भदौरिया से उनकी दोस्ती है। सौरभ लगातार जय के खिलाफ पुलिस-प्रशासन से कार्रवाई की मांग कर रहा है। आरोप है कि दो वर्ष पूर्व जब सौरभ के घर पथराव हुआ था तो जय के साथ ग्वालटोली निवासी उसके तीन दोस्त भी थे। सौरभ को जानकारी हुई तो उनके खिलाफ भी कार्रवाई की मांग शुरू कर दी।

आशीष ने बताया कि मंगलवार रात जब वह घर के पास खड़े थे तो अचानक तीनों आरोपित आए और गालीगलौज कर धमकी देने लगे। इसके बाद आशीष की पत्नी ने आरोपितों में से एक की पत्नी को फोन किया। आरोपित ने ही फोन रिसीव किया और गालीगलौज कर जान से मारने की धमकी दे डाली। तब आशीष ने सोशल मीडिया पर जानकारी देने के साथ ही अधिकारियों को ट््वीट कर कार्रवाई की मांग की। थाना प्रभारी कौशल किशोर ने घटना की जानकारी से इन्कार किया है।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.