Jan Sandesh Online hindi news website

डॉक्टरों का दावा, मुंबई पुलिस की वजह से जल्दबाजी में किया गया सुशांत का शव परीक्षण

0

नई दिल्लीl फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के मामले पर एक नया अपडेट आया है। स्वर्गीय अभिनेता के निवास पर सीबीआई सुशांत सिंह राजपूत के निधन के सीन को फिर से बनाया गया है। इस बीच शव परीक्षण करने वाले डॉक्टर के पैनल की जांच की जा रही है और जब पूछा गया कि शव परीक्षण जल्दबाजी में क्यों किया गया था, तो उनमें से एक ने बताया कि ऐसा मुंबई पुलिस के कहने पर किया गया है।

और पढ़ें
1 of 240

रिपोर्टों के अनुसार CBI ने डॉक्टरों से पूछा कि जब शव परीक्षण से पहले COVID का टेस्ट करना वर्तमान परिस्थिति को देखते हुए आदर्श बात थी, तो इसका पालन क्यों नहीं किया गया। इसपर डॉक्टरों ने दावा किया कि ऐसा कोई नियम नहीं था। आगे जब सीबीआई ने पूछा कि देर रात शव परीक्षण करने की क्या जल्दी थी, तो डॉक्टरों में से एक ने कहा कि मुंबई पुलिस ने उन्हें ऐसा करने के लिए कहा था। मुंबई पुलिस के निर्देशों का अब पता चला है। सीबीआई इसमें और जांच करेगी। बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत की ऑटोप्सी रिपोर्ट में मृत्यु का समय नहीं दिया गया है।

सुशांत सिंह राजपूत के आवास पर लंबा समय बिताने के बाद CBI टीम सुशांत के अपार्टमेंट से बाहर आई। टीम में कुछ पुलिस अधिकारी और सुशांत सिंह राजपूत के कमरे के साथी, जो उनकी मृत्यु के समय उपस्थित थे, घर पर अधिकारियों के साथ दिखे थे। इसके अलावा टीम ने 14 जून को हुई घटना का सीन फिर से बनाया और विशेषज्ञ की टीम ने घर की जांच भी की है। अब SSR के निवास से CBI रवाना हो गई है।

हालिया विकास के अनुसार सुशांत के पड़ोसी ने आज दावा किया कि उनकी मृत्यु से एक दिन पहले सुशांत के घर पर कोई पार्टी नहीं थी और यह भी पता चला कि 13 जून को लगभग 10: 30-45 बजे किचन को छोड़कर सभी लाइट्स बंद कर दी गई थी। उन्होंने कहा कि यह एक सामान्य बात नहीं थी। सुशांत को 14 जून को रहस्यमय परिस्थितियों में अपने अपार्टमेंट में मृत पाया गया था।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.