Jan Sandesh Online hindi news website

भगवान श्रीराम को काल्पनिक बताने वाले सपा नेता लोटन राम पद से बर्खास्त, राजपाल कश्यप लेंगे जगह

राजपाल कश्यप लेंगे जगह

Tweetलखनऊ समाजवादी पार्टी ने भगवान श्रीराम को काल्पनिक बताने वाले अपने नेता पर बड़ा एक्शन लिया है। समाजवादी पार्टी ने पार्टी के पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष लोटन राम निषाद को उनके पद से हटा दिया है। भगवान राम के अस्तित्व पर सवाल उठाने वाले सपा नेता लोटन राम निषाद पर समाजवादी पार्टी ने […]

0

लखनऊ समाजवादी पार्टी ने भगवान श्रीराम को काल्पनिक बताने वाले अपने नेता पर बड़ा एक्शन लिया है। समाजवादी पार्टी ने पार्टी के पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष लोटन राम निषाद को उनके पद से हटा दिया है। भगवान राम के अस्तित्व पर सवाल उठाने वाले सपा नेता लोटन राम निषाद पर समाजवादी पार्टी ने कार्रवाई कर दी है। समाजवादी पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष पद से लोटन राम निषाद की छुट्टी हो गई है।

Question on Existence of Bhagwan ShriRam भगवान राम पर टिप्पणी करने वाले लोटनराम निषाद पर समाजवादी ने बड़ी कार्रवाई की है। वह पार्टी पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष थे।

सपा प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल ने बताया कि अखिलेश यादव की स्वीकृति के बाद यूपी समाजवादी पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष को बदला गया है। लोटन राम निषाद की जगह एमएलसी राजपाल कश्यप को पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ का अध्यक्ष बनाया गया है।

और पढ़ें
1 of 662

भगवान श्रीराम पर टिप्पणी करने वाले लोटन राम निषाद पर समाजवादी ने चार दिन बाद बड़ी कार्रवाई की है। वह पार्टी पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष थे। उनकी जगह अब विधान परिषद सदस्य राजपाल कश्यप को अध्यक्ष बनाया गया है। अयोध्या में निषाद ने भगवान श्रीराम को काल्पनिक पात्र बताया था। नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष डॉ राजपाल कश्यप ने कहा कि हम 15 दिन में नई प्रदेश कार्यकारिणी बनाएंगे।

समाजवादी पार्टी के नेता लोटन राम निषाद ने भगवान श्रीराम के अस्तित्व पर सवाल उठाकर उनको काल्पनिक पात्र बताया था। इतना ही नहीं, उन्होंने कहा था कि काल्पनिक पात्र में उनकी आस्था नहीं है। उन्होंने भगवान श्रीराम को फिल्म के पात्र जैसा काल्पनिक बताया था। उन्होंने कहा कि संविधान भी मान चुका है कि राम जैसा कोई नायक भारत में पैदा नहीं हुआ।

वह बीते मंगलवार को अयोध्या में सपा पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के पदाधिकारियों का मनोनयन करने अयोध्या पहुंचे थे। इसी कार्यक्रम में उन्होंने यह विवादित दिया था। उन्होंने कहा ता कि अयोध्या में राम मंदिर बने या कृष्ण मंदिर उससे मुझे कोई लेना देना नहीं है। मेरी आस्था उनमें है जिनकी वजह से मुझे सीधा लाभ मिला। बाबा साहब भीमराव आम्बेडकर, कर्पूरी ठाकुर, महात्मा ज्योतिबा फुले और छत्रपति साहू जी महराज ने पिछड़ा वर्ग को उनका अधिकार दिया। मेरी आस्था इन महापुरुषों में है।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.