Jan Sandesh Online hindi news website

Pm – Cm पर टिप्पणी करने में निलंबित दारोगा पर मुकदमा, 60 Km पैदल चलकर आया था चर्चा में

60 Km पैदल चलकर आया था चर्चा में

0

इटावा : सोशल मीडिया पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ और धर्म विशेष पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने को लेकर निलंबित दारोगा विजय प्रताप सिंह के खिलाफ सिविल लाइन थाने में दो मुकदमे दर्ज कराए गए हैं। पहला मुकदमा भाजपा जिलाध्यक्ष अजय प्रताप सिंह धाकरे और दूसरा मुकदमा अखिल भारतीय ब्राह्मण महासभा के शैलेंद्र चौधरी ने दर्ज कराया है। वहीं आरोपित दारोगा ने मुकदमे की जानकारी से इन्कार किया है।

भाजपा जिलाध्यक्ष अजय प्रताप धाकरे व अखिल भारतीय ब्राह्मण महासभा की ओर से इटावा के सिविल लाइन में दो मुकदमे दर्ज कराए हैं।
और पढ़ें
1 of 2,080

सीओ सिटी एसएन वैभव पांडेय ने बताया कि भाजपा जिलाध्यक्ष अजय प्रताप धाकरे ने दारोगा विजय प्रताप के खिलाफ समाज में विद्वेष भावना फैलाने व प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री के खिलाफ सोशल मीडिया पर अपत्तिजनक टिप्पणी करने का आरोप लगाते हुए आइटी एक्ट में मामला दर्ज कराया है। अखिल भारतीय ब्राह्मण महासभा के शैलेंद्र चौधरी ने दारोगा विजय प्रताप द्वारा हिंदू देवी देवताओं पर सोशल मीडियां पर टिप्पणी करने को लेकर मुकदमा दर्ज कराया गया है। उन्होंने बताया कि दोनों मामले दर्ज कर लिए गए हैं।

  • एसएसपी आकाश तोमर ने बताया कि दारोगा विजय प्रताप द्वारा कई बार अनुशासनहीनता की गई है, जिसपर उन्हें निलंबित किया जा चुका है और बर्खास्तगी की कार्रवाई शासन स्तर पर लंबित है।
  • आरोपित निलंबित दारोगा विजय प्रताप सिंह का कहना है कि मुकदमा दर्ज होने की जानकारी नहीं है, वह लखनऊ में हैं। जिस टिप्पणी की बात कही जा रही है वह पुरानी है, मौजूदा समय में उन्होंने को टिप्पणी नहीं की है और न ही कोई मामला है।

60 किमी पैदल चलने से चर्चा में आया था विजय प्रताप

मूलरूप से मऊ जिले के थाना हलधर के ग्राम शहूबारी का रहने वाला विजय प्रताप वर्ष 2015 बैच का है। दारोगा विजय प्रताप शुरू से ही जनपद में मिर्जापुर से 2019 में स्थानांतरण पर आने के बाद से विवादों में रहा है। जुलाई 2019 में दारोगा विजय प्रताप ने बिठौली थाने में तैनाती किये जाने से गुस्सा होकर पुलिस लाइंस से पैदल ही 60 किमी की दौड़ लगा दी थी, इसके बाद से यह चर्चा में आ गया था। इससे पुलिस की छबि धूमिल हुई थी। तत्कालीन एसएसपी संतोष कुमार मिश्रा ने उसे इस हरकत के कारण निलंबित कर दिया था। कोविड-19 के दौरान लॉकडाउन में विजय प्रताप ने थाना सहसों के एक गांव में धार्मिक आपत्तिजनक टिप्पणी और भड़काऊ भाषा का प्रयोग करते हुए मूर्ति खंडित करने का प्रयास किया था। इसपर सहसों थाने में उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था। 23 जुलाई 2020 को कचहरी परिसर में अधिवक्ता धर्मेंद्र पांडेय से मारपीट करने पर सिविल लाइन थाने में मुकदमा दर्ज कराया गया था।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.