Jan Sandesh Online hindi news website

फर्रुखाबाद डीएम ने दिए मुकदमे के आदेश , सपा नेता पूर्व विधायक उर्मिला राजपूत भूमाफिया घोषित

सपा नेता पूर्व विधायक उर्मिला राजपूत भूमाफिया घोषित

0

फर्रुखाबाद फर्जी वसीयत के आधार पर वक्फ संपत्ति हड़पने के मामले में जिलाधिकारी मानवेंद्र सिंह ने सपा नेता पूर्व विधायक उर्मिला राजपूत को भूमाफिया घोषित कर दिया है। जिलाधिकारी मानवेंद्र सिंह की ओर से उनके खिलाफ एफआइआर दर्ज कराने के आदेश दिए गए हैं।

और पढ़ें
1 of 203
फर्जी वसीयत से वक्फ भूमि हथियाने का आरोप गहन जांच के लिए एसडीएम सदर व एसडीएम कायमगंज को शामिल करते हुए समिति का गठन किया गया है।

सर्वोदय नगर निवासी नाहर सिंह की ओर से जिलाधिकारी को दिए गए शिकायती पत्र में कहा गया कि शहर की सीमा पर ग्राम नूरपुर स्थित वक्फ नवाब मेंहदी अली की 3.65 एकड़ भूमि को अवैध और कूटरचित दस्तावेज तैयार कर बेचा गया है। एसडीएम सदर द्वारा की गई शिकायत की जांच में पाया गया कि चकबंदी के दौरान आकार पत्र-45 के अभिलेखों में हेराफेरी कर वक्फ नवाब मेहंदी अली का नाम हटाकर नवाब सफदर अली के नाम दर्ज कर दिया गया। तत्कालीन तहसीलदार सदर ने गैरपंजीकृत वसीयत के आधार पर विवादित भूमि को सफदर सुल्तान के नाम से खारिज कर अजादार जैदी के नाम दर्ज कर दिया, जो कि न्यायिक दृष्टि से शून्य था।

इसके बाद अजादार जैदी की मृत्यु से ठीक एक दिन पूर्व की तिथि में एक अपंजीकृत वसीयत के आधार पर भूमि को उर्मिला राजपूत के नाम दर्ज कर दिया गया। जिलाधिकारी के आदेश के अनुसार संदिग्ध परिस्थितियों के रहते हुए भी तहसीलदार सदर द्वारा की गई कार्रवाई न्याय की दृष्टि से अनुचित थी। इस प्रकार लगभग 3.30 करोड़ कीमत की वक्फ भूमि को हथियाने के मामले में जिलाधिकारी ने सपा नेता व पूर्व विधायक उर्मिला राजपूत को भूमाफिया घोषित किया है। कूटरचित अभिलेखों को निरस्त करते हुए प्रश्नगत भूमि को दोबारा वक्फ संपत्ति दर्ज किए जाने के आदेश दिए गए। मामले में पूर्व विधायक के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराने के आदेश कर दिए गए हैं।

 

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.