Jan Sandesh Online hindi news website

संजय राउत का पूर्व नौसेना अधिकारी पर हमले के मामले में बड़ा बयान, कहा….

0

मुंबई। मुंबई में सेवानिवृत्त नौसेना अधिकारी मदन शर्मा पर हुए हमले पर शिवसेना नेता संजय राउत ने रविवार को कहा कि महाराष्ट्र एक बड़ा राज्य है। ऐसा कुछ भी किसी के साथ भी हो सकता है। क्या आप जानते हैं कि यूपी में कितने पूर्व सैनिकों पर हमले हुए हैं? लेकिन, रक्षा मंत्री ने उन्हें फोन नहीं किया। हमारी सरकार का मानना है कि किसी भी निर्दोष व्यक्ति पर हमला नहीं किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि आप जिस तरह से बात करते हो, कीचड़ उछालते हो और उसके बाद अगर लोगों के मन में गुस्सा पैदा होता है फिर आप उसे सरकार से क्यों जोड़ रहे हो। अगर किसी ने हमला किया है तो हमें पूछ कर तो नहीं किया है न। इतना बड़ा महाराष्ट्र है ये किसी के भी साथ हो सकता है। राउत ने कहा कि महाराष्ट्र में कानून का हमेशा सम्मान किया जाता है। आरोपितों को तुरंत गिरफ्तार किया गया, चाहे वे जिस भी पार्टी से जुड़े हों।

और पढ़ें
1 of 240

गौरतलब है कि शुक्रवार को एक कार्टून फॉरवर्ड करने के कारण सेवानिवृत नौसैनिक अधिकारी पर शिवसैनिकों द्वारा किए गए हमले का मामला तूल पकड़ रहा है। देश के रक्षामंत्री ने न सिर्फ उक्त बुजुर्ग नौसैनिक से बात की, बल्कि भाजपा नेताओं ने इस घटना के विरोध में धरना भी दिया। देश के रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने शनिवार को स्वयं ट्वीट कर यह जानकारी दी कि उन्होंने मुंबई के उस सेवानिवृत्त नौसैनिक अधिकारी मदन शर्मा से बातचीत की, जो शुक्रवार को कुछ लोगों की गुंडागर्दी का शिकार हुए थे। राजनाथ सिंह ने लिखा है कि पूर्व सैनिकों पर इस प्रकार के हमले बिल्कुल अस्वीकार्य एवं खेदजनक हैं। हम उनके शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करते हैं। अस्पताल से शनिवार को ही डिस्चार्ज हो चुके मदन शर्मा ने बताया कि रक्षामंत्री ने मेरे साथ हुए हादसे की निंदा की और दुख जताया।

रक्षामंत्री ने हरसंभव मदद की बात भी कही और कहा है कि आप चिंता न करें। मदन शर्मा ने अपने साथ हुई ज्यादती की जानकारी देते हुए बताया कि उन लोगों ने मुझे बात करने के लिए बुलाया था, लेकिन बिना बात किए ही पीटना शुरू कर दिया। मैंने उन लोगों से कहा भी कि मैं डिफेंस से हूं और बुजुर्ग नागरिक हूं। लेकिन उन्होंने मेरी एके नहीं सुनी। देश में ऐसे लोगों का होना कतई ठीक नहीं है। शर्मा ने कहा कि पहले तो उन्होंने मुझे मारा। फिर मुझे गिरफ्तार करने के लिए पुलिस भेज दी। ये लोग मुझे जेल में ले जाकर मार डालते। लेकिन स्थानीय विधायक अतुल भातखलकर और रानी द्विवेदी ने बचा लिया। ये लोग न होते तो मैं आपके सामने नहीं होता।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.