Jan Sandesh Online hindi news website

मानसून सत्र: सरकार ने प्रश्नकाल हटाकर लोकतंत्र का गला घोंटा- कांग्रेस

0

नई दिल्ली। कोरोना महामारी (Coronavirus Pandemic) के बीच संसद का मानसून सत्र (Parliament’s Monsoon Session) आज से शुरू हो गया है। लगातार 18 दिन चलने वाले इस सत्र के लिए सारी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। कोरोना से बचाव के लिए इस बार कई तरह के खास इंतजाम किए गए हैं। सत्र के दौरान सांसदों को कैंटीन में पैक भोजन दिया जाएगा। सांसदों तथा कर्मचारियों समेत 4000 से ज्यादा लोगों की कोरोना जांच की गई है। वहीं, आज राज्यसभा में उपसभापति का चुनाव भी होना है। विपक्ष ने राजग के उम्मीदवार हरिवंश के मुकाबले मनोज झा को उतारा है। हालांकि, राज्यसभा के गणित के लिहाज से हरिवंश का चुनाव जीतना तय माना जा रहा है।

LIVE Parliament’s Monsoon Session Updates:

सब की सहमति से प्रश्नकाल कहने का फैसला : राजनाथ

प्रश्नकाल के मुद्दे पर कांग्रेस के आरोप का जवाब देते हुए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि बहुत से नेताओं से मैंने भी बातचीत की है। असाधारण परिस्थितियों में संसद की कार्यवाही हमको करनी पड़ रही है। 4 घंटे के लिए सदन चलेगा और मैंने अनुरोध किया था कि उसमें प्रश्नकाल न हो। आधे घंटे का एक जीरो आवर हो। राजनाथ सिंह ने कहा कि अधिकांश राजनीतिक पार्टियों के नेताओं की सहमति के बाद ही यह फैसला किया गया था।

लोकतंत्र का गला घोंटने का प्रयास: अधीर रंजन

लोकसभा में कांग्रेस के सांसद अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि प्रश्नकाल बेहद महत्वपूर्ण है, लेकिन आप कहते हैं कि परिस्थितियों के कारण इसे आयोजित नहीं किया जा सकता है। आप सदन को चलाते हैं, लेकिन प्रश्नकाल को समाप्त कर देते हैं। आप लोकतंत्र का गला घोंटने का प्रयास कर रहे हैं। विपक्ष के अन्य सदस्यों ने भी कहा कि प्रश्नकाल और प्राइवेट मेंबर बिजनेस होना जरूरी है

ऑनलाइन सवाल के लिए ऐप 

स्पीकर ओम बिरला ने कहा कि ऐसा पहली बार हो रहा है कि लोकसभा के सांसद राज्यसभा और राज्यसभा के सांसद लोकसभा में बैठेंगे। हम अभूतपूर्व स्थिति में बैठे हैं। हम इस सत्र को कोविड प्रोटोकॉल के तहत चला रहे हैं।ऑनलाइन सवाल के लिए ऐप विकसित किया है। स्पीकर ने कहा कि इस बार हमने सांसदों को सदन में बैठकर बोलने की इजाजत दी है।

लोकसभा में प्रणव मुखर्जी को श्रद्धांजलि

पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी के निधन पर लोकसभा में उन्हें श्रद्धांजलि दी गई। स्पीकर ओम बिड़ला ने उनका जिक्र करते हुए कहा कि वह एक सफल वक्ता और प्रशासक थे। उनका ज्ञान और अनुभव अद्वितीय था। इसके बाद सदन की कार्यवाही को एक घंटे के लिए स्थगित कर दिया गया।

और पढ़ें
1 of 2,960

पूरा देश जवानों के साथ खड़ा

पीएम ने कहा, हमारी सेना के वीर जवान हिम्मत, जज्बे और बुलंद हौसलों के साथ सीमा पर डटे हुए हैं। कुछ समय के बाद बर्फबारी भी शुरू होगी। मुझे विश्वास है कि सभी सदस्य मिलकर संदेश देंगे कि पूरा देश जवानों के साथ खड़ा है जो सीमा पर डटकर मातृभूमि की रक्षा कर रहे हैं।

कोरोना भी है और कर्तव्य भी

पीएम मोदी ने कहा कि संसद का सत्र ऐसे कठिन मसय में शुरू हो रहा है, जहां एक तरफ कोरोना है और दूसरी तरफ कर्तव्य। सांसदों ने कर्तव्य का पथ चुना है। मैं उन्हें धन्यवाद देता हूं। इस बार लोकसभा और राज्यसभा अलग-अलग समय पर चलेगी। इस बार शनिवार और रविवार को भी सदन चलेगा। सभी सांसद इस पर सहमत हैं।

कांग्रेस ने दिया स्थगन प्रस्ताव 

कांग्रेस के सांसद अधीर रंजन चौधरी और के सुरेश ने लोकसभा में पूर्वी लद्दाख में चीनी घुसपैठ को लेकर स्थगन प्रस्ताव दिया है। दूसरी तरफ डीएमके और सीपीआइ (एम) ने नीट परीक्षा की वजह से 12 किशोर छात्रों की आत्महत्या’ को लेकर लोकसभा में स्थगन प्रस्ताव नोटिस दिया है।

11 विधेयक पेश करने की तैयारी

विपक्ष चीन के साथ एलएसी पर चल रहे विवाद, अर्थव्यवस्था और कोरोना संकट जैसे मुद्दों को लेकर सरकार को घेरने की तैयारी में है। सरकार ने 11 विधेयक पेश करने की तैयारी की है और विपक्ष ने स्पष्ट कर दिया है कि वह कम-से-कम चार विधेयकों का विरोध करेगा। विपक्ष की सरकार को घेरने की रणनीति के बीच सरकार भी जबाव देने के लिए पूरी तरह तैयार है। खासकर चीन विवाद और कोरोना संकट के मुद्दे पर वह विपक्ष के सवालों का पूरी ताकत से जवाब देगी।

चार विधेयकों पर खुला विरोध

सरकार इस सत्र में 11 विधेयक भी पेश करेगी। कांग्रेस ने इनमें से चार विधेयकों पर खुले विरोध का एलान कर दिया है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश ने कहा कि जिन चार विधेयकों के विरोध का निर्णय लिया गया है, उनमें तीन कृषि और किसानों से जु़ड़े हैं। एक विधेयक फाइनेंस से जु़ड़ा है, जिसमें बैकिंग रेगुलेशन एक्ट में बदलाव का प्रस्ताव है। वहीं जो एग्रो मार्केटिंग से जु़ड़ा विधेयक है, उसका भी पंजाब, छत्तीसग़़ढ, राजस्थान आदि राज्यों ने विरोध किया है।

बदला दिखेगा संसद का नजारा

  • मानसून सत्र के दौरान संसद का नजारा बदला दिखेगा, क्योंकि दोनों सदनों की बैठक एक साथ नहीं होगी।

  • सोमवार को लोकसभा की बैठक सुबह नौ बजे से दोपहर एक बजे तक चलेगी। राज्यसभा की बैठक तीन बजे से शाम सात बजे तक चलेगी।

  • मंगलवार से पहले राज्यसभा और बाद में लोकसभा की बैठक चार–चार घंटे के लिए होगी।

  • सभी सांसदों को कोविड का परीक्षण कराने के लिए कहा गया है। सिर्फ उन्हीं सांसदों को प्रवेश दिया जाएगा, जिनकी रिपोर्ट निगेटिव होगी।

  • संसद की बैठक के लिए दोनों सदनों के कक्षों और गैलरियों का इस्तेमाल किया जाएगा।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.