Jan Sandesh Online hindi news website

फेसबुक पर रुपये मांग रहे ‘अमेठी के जिलाधिकारी’ की खुली पोल, मुकदमा दर्ज

0

अमेठी साइबर अपराधियों के हौसले इस कदर बढ़ गए हैं कि अब उन्होंने जिलाधिकारी अमेठी के नाम से ही फर्जी फेसबुक आईडी बनाकर लोगों को ठगने की योजना बना डाली थी। हालाकि समय रहते जानकारी हो जाने पर ऐसा हो नहीं पाया। जिलाधिकारी अरुण कुमार के आदेश में सूचना अधिकारी केस दर्ज करवा दिया है। पुलिस ने फर्जी आईडी को बंद करवाकर पूरे मामले की जांच शुरू कर दी है।

और पढ़ें
1 of 1,081
अमेठी के डीएम अरुण कुमार की साइबर ठगों ने बनाई फर्जी आइडी पैसे मांगने पर मिली सूचना जिलािधकारी अरुण कुमार के आदेश में सूचना अधिकारी केस दर्ज करवा दिया है। पुलिस ने फर्जी आईडी को बंद करवाकर पूरे मामले की जांच शुरू कर दी है।

साइबर अपराधियों द्वारा जिलाधिकारी अमेठी की फोटो लगाकर डिस्टी मजिस्ट्रेट के नाम से फर्जी फेसबुक आईडी बनाकर लोगों से पैसे मांगने के मामले की जानकारी होने पर जिलाधिकारी अरुण कुमार ने तत्काल संज्ञान लेते हुए पुलिस अधीक्षक व जिला सूचना अधिकारी को उक्त प्रकरण से अवगत कराते हुए कार्रवाई करने का निर्देश दिया है। जिस पर प्रभारी जिला सूचना अधिकारी शिवदर्शन यादव ने गौरीगंज थाने में उक्त प्रकरण के संबंध में सूचना एवं प्रौद्योगिकी अधिनियम की धारा 66 डी के तहत उक्त फेसबुक आईडी संचालक (अज्ञात) के ऊपर एफआईआर दर्ज कराई है। वहीं जानकारी होने के बाद पुलिस अधीक्षक के आदेश पर उनके कार्यालय द्वारा जिलाधिकारी की फर्जी फेसबुक आईडी को तत्काल बंद करवा दिया है। उक्त प्रकरण को लेकर जिलाधिकारी ने आमजन से अपील करते हुए कहा है कि ऐसे साइबर अपराधियों के चंगुल में ना फंसे। फेसबुक, व्हाट्सएप, टि्वटर, इंस्टाग्राम आदि सोशल नेटवर्किंग साइटों पर किसी भी व्यक्ति के द्वारा पैसे की मांग करने पर तत्काल इसकी सूचना अपने नजदीकी पुलिस थाने को दें।

पुलिस अधीक्षक दिनेश सिंह ने बताया कि जिलाधिकारी की फर्जी फेसबुक आईडी को फेसबुक सोशल मीडिया साइट्स से बात कर बंद करवा दिया गया है और पूरा विवरण मांगा गया है। जानकारी मिलते ही आरोपित को गिरफ्तार कर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह [email protected] पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comment section

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.