Jan Sandesh Online hindi news website

क्या आपके भी आंखों से आता है पानी तो अपनाएं यह उपाय…

0

कहते हैं जब मन उदास होता है तो आंखों से आंसू आना आम बात है, लेकिन टीवी,फोन, लेपटॉप के इस्तेमाल करने पर अगर आंखों से पानी आए तो ये कमजोरी या आंखों की रोशनी कम होने के कारण भी हो सकता है। अगर आपके आंखों से पानी या आंसू बिना किसी वजह के निकल आते हैं तो इसे नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। इस स्थिति में बिना किसी कारण आंखों से आंसू उत्पन्न हो जाते हैं और पूर्ण तौर पर बाहर निकल नहीं पाते हैं।

चिकित्सकों के अनुसार आँसू की मदद से आँख की सतह नम रहती हैं, लेकिन हर वक्त आंखों से पानी आने से कुछ साफ़-साफ़ दिखाई भी नहीं देता है, इसके अलावा ये अन्य तरह की समस्याओं को बुलावा देने का काम कर सकती हैं। इसलिए बेहतर है कि आप इसका इलाज जल्द से जल्द कर लें। इस तरह की समस्या का इलाज घरेलू उपायों से भी किया जा सकता है। आज हम आपको इन्हीं घरेलू उपायों और इससे बचने के उपायों के बारे में बताने जा रहे हैं, आइए जानते हैं…

ठंडे या गरम कपड़े से दबाना

आंखों में पानी आने का प्रमुख कारण आंसू नलिकाओं की रुकावट माना जाता है। ऐसे में राहत पाने के लिए आप ठंडे या गरम कपड़े से अपनी आंखों को थोड़ा-थोड़ा दबाकर राहत पा सकते हैं। इससे नलिकाओं की रुकावट मानी जाने वाली परत हट जाता है। साथ ही जहरीले पदार्थ भी आंखों से बाहर निकाल जाते हैं और आंख की जलन भी ठीक हो जाता है।

टी बैग

आंखों से पानी निकलने की समस्या के लिए हर्बल टी बैग भी एक अच्छा उपाय है। इसके लिए आपको टी बैग को थोड़ी देर के लिए गर्म पानी में रखना होगा। इसके बाद इसे अपने आंखों पर रखकर सिकाई करें। ध्यान रहे टी बैग या पानी ज्यादा गर्म न हों। इससे आपको काफी जल्दी आराम मिल सकेगा।

नमक और पानी का घोल

कई बार आंखों से ज्यादा पानी आने पर खुजली या जलन की समस्या होने लगती है। इससे आराम पाने के लिए नमक और पानी का घोल काफी अच्छा उपाय माना जाता है। नमक में एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं, जो आंखों से जहरीले बैक्टीरिया को बाहर निकालने में मददगार साबित होते हैं। इस तरह तीन दिन तक लगातर करें, आप दिन में 4 से 5 बार ऐसा कर सकते हैं।

बेकिंग सोडा

आंखों से पानी आने की समस्या के लिए बेंकिग सोडा भी एक अच्छा विकल्प है। इसके लिए एक बर्तन में पानी गर्म कर लें और फिर इसमें एक चम्मच बेकिंग सोडा डालकर मिला लें। इस मिश्राण को असानी से आप अपने घर में बना सकते हैं। अब इस बने हुए मिश्रण से अपनी आंखों को 2 से 3 बार धोएं।

यदि कोई धूल मिट्टी चली गई हो

अगर आपको लगता है कि आंखों में कुछ धूल-मिट्टी चली गई है, इस वजह से पानी आ रहा है तो ऐसे में आप गीले कपड़े की मदद से इसे साफ कर सकते हैं। ध्यान रहें आंखों से आने वाले पानी या आंसुओं को कपड़े से ही साफ करना सही रहता है।

आँखों में पानी आने की समस्या से बचने के उपाय

  • आंखों की अच्छी सेहत के लिए संतुलित आहार लें,
  • अपनी आंखों को धूप और जलन से बचाएं,
  • आंख में खुजली होने पर आंखों को बार बार न छुएं,
  • धूल-मिट्टी के बजाव के लिए आंखों पर चश्मा लगाएं,
  • एलर्जी वाले पदार्थों के वातावरण में जाने से सावधानी बरतें या बचें,
  • आंखों का मेकअप प्रोडक्ट्स किसी के साथ शेयर न करें।
  • आंखों से कुछ ज्यादा ही पानी आने पर डॉक्टर से संपर्क करें।

आंखों की सेहत के लिए आहार

और पढ़ें
1 of 185

अगर आप सेहतमंद आंखे चाहते हैं तो इसके लिए पत्तेदार और हरी सब्जियां, ताजे फल, मछली, सूखे मेवे और अखरोट को अपनी डायट में शामिल जरूर करें। मछली और अखरोट में ओमेगा-3 फैटी एसिड मौजूद होता है। इसके सेवन से ड्राई मैकुलर की बीमारी होने की संभावना कम हो जाती है। इसके अलावा आप सब्जियों में ब्रोक्कोली, गोभी, पालक, मटर को शामिल कर सकते हैं, इनमें एंटीऑक्सीडेंट के साथ ल्यूटीन मौजूद होता है। इनके सेवन से हर तरह की बीमारियों से बचा जा सकता है।

कहते हैं जब मन उदास होता है तो आंखों से आंसू आना आम बात है, लेकिन टीवी,फोन, लेपटॉप के इस्तेमाल करने पर अगर आंखों से पानी आए तो ये कमजोरी या आंखों की रोशनी कम होने के कारण भी हो सकता है। अगर आपके आंखों से पानी या आंसू बिना किसी वजह के निकल आते हैं तो इसे नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। इस स्थिति में बिना किसी कारण आंखों से आंसू उत्पन्न हो जाते हैं और पूर्ण तौर पर बाहर निकल नहीं पाते हैं।

चिकित्सकों के अनुसार आँसू की मदद से आँख की सतह नम रहती हैं, लेकिन हर वक्त आंखों से पानी आने से कुछ साफ़-साफ़ दिखाई भी नहीं देता है, इसके अलावा ये अन्य तरह की समस्याओं को बुलावा देने का काम कर सकती हैं। इसलिए बेहतर है कि आप इसका इलाज जल्द से जल्द कर लें। इस तरह की समस्या का इलाज घरेलू उपायों से भी किया जा सकता है। आज हम आपको इन्हीं घरेलू उपायों और इससे बचने के उपायों के बारे में बताने जा रहे हैं, आइए जानते हैं…

ठंडे या गरम कपड़े से दबाना

आंखों में पानी आने का प्रमुख कारण आंसू नलिकाओं की रुकावट माना जाता है। ऐसे में राहत पाने के लिए आप ठंडे या गरम कपड़े से अपनी आंखों को थोड़ा-थोड़ा दबाकर राहत पा सकते हैं। इससे नलिकाओं की रुकावट मानी जाने वाली परत हट जाता है। साथ ही जहरीले पदार्थ भी आंखों से बाहर निकाल जाते हैं और आंख की जलन भी ठीक हो जाता है।

टी बैग

आंखों से पानी निकलने की समस्या के लिए हर्बल टी बैग भी एक अच्छा उपाय है। इसके लिए आपको टी बैग को थोड़ी देर के लिए गर्म पानी में रखना होगा। इसके बाद इसे अपने आंखों पर रखकर सिकाई करें। ध्यान रहे टी बैग या पानी ज्यादा गर्म न हों। इससे आपको काफी जल्दी आराम मिल सकेगा।

नमक और पानी का घोल

कई बार आंखों से ज्यादा पानी आने पर खुजली या जलन की समस्या होने लगती है। इससे आराम पाने के लिए नमक और पानी का घोल काफी अच्छा उपाय माना जाता है। नमक में एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं, जो आंखों से जहरीले बैक्टीरिया को बाहर निकालने में मददगार साबित होते हैं। इस तरह तीन दिन तक लगातर करें, आप दिन में 4 से 5 बार ऐसा कर सकते हैं।

बेकिंग सोडा

आंखों से पानी आने की समस्या के लिए बेंकिग सोडा भी एक अच्छा विकल्प है। इसके लिए एक बर्तन में पानी गर्म कर लें और फिर इसमें एक चम्मच बेकिंग सोडा डालकर मिला लें। इस मिश्राण को असानी से आप अपने घर में बना सकते हैं। अब इस बने हुए मिश्रण से अपनी आंखों को 2 से 3 बार धोएं।

यदि कोई धूल मिट्टी चली गई हो

अगर आपको लगता है कि आंखों में कुछ धूल-मिट्टी चली गई है, इस वजह से पानी आ रहा है तो ऐसे में आप गीले कपड़े की मदद से इसे साफ कर सकते हैं। ध्यान रहें आंखों से आने वाले पानी या आंसुओं को कपड़े से ही साफ करना सही रहता है।

आँखों में पानी आने की समस्या से बचने के उपाय

  • आंखों की अच्छी सेहत के लिए संतुलित आहार लें,
  • अपनी आंखों को धूप और जलन से बचाएं,
  • आंख में खुजली होने पर आंखों को बार बार न छुएं,
  • धूल-मिट्टी के बजाव के लिए आंखों पर चश्मा लगाएं,
  • एलर्जी वाले पदार्थों के वातावरण में जाने से सावधानी बरतें या बचें,
  • आंखों का मेकअप प्रोडक्ट्स किसी के साथ शेयर न करें।
  • आंखों से कुछ ज्यादा ही पानी आने पर डॉक्टर से संपर्क करें।

आंखों की सेहत के लिए आहार

अगर आप सेहतमंद आंखे चाहते हैं तो इसके लिए पत्तेदार और हरी सब्जियां, ताजे फल, मछली, सूखे मेवे और अखरोट को अपनी डायट में शामिल जरूर करें। मछली और अखरोट में ओमेगा-3 फैटी एसिड मौजूद होता है। इसके सेवन से ड्राई मैकुलर की बीमारी होने की संभावना कम हो जाती है। इसके अलावा आप सब्जियों में ब्रोक्कोली, गोभी, पालक, मटर को शामिल कर सकते हैं, इनमें एंटीऑक्सीडेंट के साथ ल्यूटीन मौजूद होता है। इनके सेवन से हर तरह की बीमारियों से बचा जा सकता है।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह [email protected] पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comment section

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.