Jan Sandesh Online hindi news website

ऑस्टेलिया : रन बनाने के लिए इस शॉट पर ध्यान दे रहे केएल राहुल, टेनिस रैकेट का ले रहे सहारा

0

सिडनी, प्रेट्र। इंडियन प्रीमियर लीग (आइपीएल) के दौरान यूएई की धीमी पिचों पर लगभग दो महीने तक खेलने के बाद भारतीय बल्लेबाजों ने सोमवार को पारंपरिक टेनिस गेंद से अभ्यास के साथ ऑस्ट्रेलिया की जीवंत पिचों पर खेलने की तैयारी की। फॉर्म में चल रहे लोकेश राहुल ने अपने पुल शॉट को बेहतर करने के लिए कड़ा अभ्यास किया। बीसीसीआइ द्वारा ट्विटर पर पोस्ट किए गए वीडियो में सीनियर ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन को टेनिस रैकेट का इस्तेमाल करते देखा गया।

बीसीसीआइ द्वारा ट्विटर पर पोस्ट किए गए वीडियो में लोकेश राहुल पुल शॉट को बेहतर करने के लिए कड़ा अभ्यास करते नजर आए। स्पिनर रविचंद्रन अश्विन उन्हें टेनिस रैकेट से थ्रो-डाउन देते दिखे। गौरतलब है कि टीम इंडिया को यहां वनडे. टी-20 और टेस्ट सीरीज खेलनी है।

अश्विन, भारत की सीमित ओवरों की टीम के कार्यवाहक उप कप्तान राहुल को सर्विस करके गेंद खिला रहे थे और इस दौरान उनकी पसलियों को निशाना बना रहे थे। टीम के सीनियर तेज गेंदबाज मुहम्मद शमी ने भी अपने ट्विटर हैंडल पर एक वीडियो पोस्ट किया है जिसमें वह गुलाबी कूकाबूरा गेंद के साथ गेंदबाजी करते हुए दिख रहे हैं।

और पढ़ें
1 of 488

 

पुकोवस्की को जगह मिलने की संभावना नहीं : गिलक्रिस्ट

ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज विकेटकीपर बल्लेबाज एडम गिलक्रिस्ट का मानना है कि उभरते हुए बल्लेबाज विल पुकोवस्की को भारत के खिलाफ पहले टेस्ट के लिए अंतिम एकादश में जगह नहीं मिलेगी, क्योंकि चयनकर्ता दबाव का सामना कर रहे जो ब‌र्न्स को बाहर करने से हिचक रहे हैं। गिलक्रिस्ट ने हालांकि स्वीकार किया कि पुकोवस्की को खिलाने के ठोस कारण हैं।

गिलक्रिस्ट ने कहा कि पुकोवस्की के शेफील्ड शील्ड में लगातार दो दोहरे शतक के साथ मजबूत दावा पेश करने के बावजूद ऑस्ट्रेलिया के पारी का आगाज करने के लिए ब‌र्न्स और डेविड वार्नर की जांची-परखी जोड़ी पर भरोसा करने की संभावना है। वहीं ऑस्ट्रेलियाई टीम के टेस्ट कप्तान टिम पेन ने भी सोमवार को यह इशारा किया है कि पुकोवस्की को पदार्पण करने के लिए इंतजार करना पड़ सकता है। पेन ने कहा है कि वह चाहते हैं जो ब‌र्न्स भारत के खिलाफ सलामी बल्लेबाज की भूमिका निभाएं।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह [email protected] पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comment section

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.