Jan Sandesh Online hindi news website

पीएम मोदी बोले, लखनऊ हम पर फिदा और हम फिदा-ए-लखनऊ

0

लखनऊ, विश्वविद्यालय परिवाद को शुभकामनाएं। सौ वर्ष का समय एक आंकड़ा नहीं है। अपार उपलब्धियों का एक जीता जागता इतिहास है। यहांं देश दुनिया के लिए अनेक प्रतिभाओं को बनते हुए देखा है। यहां के छात्र अनेक जगह पहुंचे। लखनऊ यूनिवर्सिटी के कला संकाय प्रांगण मेेें नेता सुभाष चन्द्र बोस की आवाज गूंजी थी। कल जब संविधान दिवस मनाएंगे तब नेता जी की याद आएगी। मैं सभी विभूतियों का अभिनन्दन करता हूँ। मुझे जब यहां से पढ़े लोगों से बात की उनकी आंखों चमक आ जाती है। लखनऊ हम पर फिदा और हम फिदा-ए-लखनऊ। टैगोर लाइबेर्री और कैंटीन केसमोसे और बन मक्खन याद रहता है। आज एकादशी है, देव जागरण का दिन है। यह बातें बुधवार को लखनऊ व‍िश्‍वव‍ि़द्यालय के शताब्‍दी वर्ष समारोह के समापन अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंंद्र मोदी ने कही।

भारतीय राजनीति स्वतंत्रता आन्दोलन के समय ये विश्वविद्यालय बना। जब कोई संस्था सौ साल पूरे करती है जब कोई संस्थान लम्बे समय तक टिका रहा तो तय है कि नींव मजबूत थी। डॉ बीरबल साहनी से पूर्व राष्ट्रपति डॉ शंकरदयाल शर्मा यहां रहे।
और पढ़ें
1 of 551

इस अवसर पर रक्षामंत्री राजनाथ स‍िंंह ने कहा, लखनऊ विश्वविद्यालय केे 100 साल भारतीय शिक्षा जगत की ऐतिहासिक घटना है। भारत के सबसे पुराने संस्थानों में से एक है। भारतीय राजनीति स्वतंत्रता आन्दोलन के समय ये विश्वविद्यालय बना। जब कोई संस्था सौ साल पूरे करती है, जब कोई संस्थान लम्बे समय तक टिका रहा तो तय है कि नींव मजबूत थी। डॉ बीरबल साहनी से पूर्व राष्ट्रपति डॉ शंकरदयाल शर्मा यहां रहे। स्टीव जॉब्स एपेल संस्थापक भी नीम करौरी बाबा के भक्त थे। बाबा नीम करौरी का मंदिर विश्वविद्यालय के सामने है। लविवि का इतिहास और भूगोल दोनों गौरवमयी हैंं। मैंं अपने शिक्षा मंत्री काल मे यहां आता था। आज कोविड की बड़ी चुनौती है। युवा कोरोनावारियर्स रहे हैं। हमने आत्मनिर्भर भारत का संकल्प लिया है।

रक्षामंत्री नेे कहा, आत्म निर्भर भारत धनवान, ज्ञानवान और चरित्रवान भी होगा। स्वामी विवेकानन्द कहते थे कि हमारे देश मे संस्कृति व्यक्ति को बनाती है। आप आगे बढ़ेंगे तो भारत आगे बढ़ेगा। आपके साथ भारत की संस्कृति है। हम बड़े सुधार कर रहे हैं। हम बड़े बदलाव कर रहे हैं। हम पांच ट्रिलियन डॉलर अर्थव्यवस्था बनेंगे। हम कई बड़े सुधार कर रहे हैं। लखनऊ के सांसद ने कहा, इस साल केंद्र सरकार ने नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति दी है। हमारी शिक्षा नीति का उद्देश्य what to think था। अब हमारी नीति कहती है how to think।

लखनऊ के सांंसद राजनाथ स‍िंह वीड‍ियो कांफ्रेंस‍िंग के माध्‍यम से समारोह को संबांध‍ित क‍िया। एक हफ्तेे से चल रहे कार्यक्रम के अंत‍िम द‍िन पद्मश्री मालिनी अवस्थी, सुरेश कुमार खन्ना, क्रिकेटर सुरेश रैना, राजीव कुमार, जूही चतुर्वेदी, डॉ नरेश त्रेहन को सम्‍मान‍ित क‍िया गया। इस दौरान दैनिक जागरण के वरिष्ठ कार्यकारी संपादक प्रशांत मिश्र को भी सम्मनित किया गया।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह [email protected] पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comment section

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.