Jan Sandesh Online hindi news website

Gigolo Market : यहां सजती है मर्दों की मंडी, महिलाएं लगाती है मर्दों की बोली , ऐसे तय होती है मर्दों की कीमत

0

यूं तो कई बातों के लिए मशहूर है, मगर आज जिस बात के लिए मशहूर हो रही है उस पर किसी को फक्र तो बिल्कुल नहीं होगा | आज के समय में Sex युवा दिलों दिमाग में इस कदर छाया हुआ है कि अगर आप उनका Mobil या Laptop देख ले तो शायद आपको कई Porn Photos और Videos देखने को मिल जाए | इसकी वजह से युवाओं का Jobs में मन नहीं लगता | देखा जाए तो कि वह सही और गलत के अंतर को भी समझ नहीं पाते | इससे साफ है कि

भारत की राजधानी दिल्ली के कई पॉश इलाकों में मर्दों के जिस्म की मंडी लगने लगी है  जहां रात 10 बजे के बाद लड़कियों का नहीं बल्कि लड़कों का जाना मुश्किल हो जाता है। इन इलाकों में जाने से लड़के डरते हैं। दरअसल यहां औरतों की नहीं मर्दों की बोलियां लगती हैं। दिल्ली में ऐसी कई जगह हैं जहां शाम के बाद ही मर्दों का बाजार सजता है। आपको बता दें कि इन इलाकों को जिगोलो मार्केट कहा जाता है। यहां अमीर घरों की औरतें मर्दों को खरीदने आती हैं। युवाओ में पैसा कमाने का नशा इस कदर छाया है । अमीर घरों की औरतें मर्दों को  अपनी अय्यासी का। युवाओ को बदलते समय के साथ उन्हें पैसा और मजा दोनों चाहिए ।

इसमें adhiktar Collage Student अपनी लाइफ मजे से गुजारने के लिए रात को काम करना पसंद कर रहे हैं । यहां जो जितना अच्छा काम करेगा उसकी कमाई और Promotion उतना ही ज्यादा जल्दी होगी । यह काम एक Gigolo club द्वारा क्या जाता है | Gigolo Market दिन में नहीं बल्कि रात को चलती है जिसे Gigolo Market Ya Male prostitution Market Bhi कहा जाता है और इसमें काम करने वाले मर्द Gigolo कहलाते हैं ।

Gigolo Market : यहां सजती है मर्दों की मंडी, महिलाएं लगाती है मर्दों की बोली , ऐसे तय होती है मर्दों की कीमत
Gigolo Market : यहां सजती है मर्दों की मंडी, महिलाएं लगाती है मर्दों की बोली , ऐसे तय होती है मर्दों की कीमत

Delhi में एक Gigolo Market है जहां वह काम करके अच्छा खासा पैसा कमा रहे हैं ।  इस gigolo Market का नाम है जिगोलो यहां रात को मर्दों की मंडी लगती है । पैसा कमाने के लिए यह Collage के Student अपने जिस्म का सौदा करने से भी पीछे नहीं हटते | Gigolo Market Delhi Me अच्छे घरों की महिलाएं लड़कों की बोली लगाती हैं।

मर्दों की यह मंडी दिल्ली के Posh areas और South extension, JNU Road, IANAS, Ansal Plaza, Kanot Place, Janakpuri District Center जैसे प्रमुख बाजारों की मुख्य सड़कों पर लगता है | लड़के यहां आकर खड़े हो जाते हैं और गाड़ियां रूकती हैं, जिगोला बैठता है, सौदा तय होते ही गाड़ी चल देती है |

Gigolo Market : यहां सजती है मर्दों की मंडी, महिलाएं लगाती है मर्दों की बोली , ऐसे तय होती है मर्दों की कीमत
Gigolo Market : यहां सजती है मर्दों की मंडी, महिलाएं लगाती है मर्दों की बोली , ऐसे तय होती है मर्दों की कीमत
और पढ़ें
1 of 218

शहर के पॉश इलाकों और पब – Clubs के अलावा कई जाने माने Hotels में यह धंधा जमकर फल फूल रहा है | यहां इनकी पहचान गले में पहने पट्टे रुमाल से नहीं बल्कि ड्रेस से होती है | Inke liye Ek Kash dress code hota hai. काली पैंट और सफेद शर्ट | खबर के मुताबिक, Gigolo इन Hotels के रेस्तरां में बैठकर कॉफी की चुस्कियां लेते हुए अपने ग्राहक की तलाश करते |

एक Website के मुताबिक राष्ट्रीय राजधानी Delhi में मर्दों के जिस्म का यह कारोबार तेजी से पनप रहा है | यह कारोबार रात 10:00 बजे के बाद शुरू होता है और सुबह 4:00 बजे तक चलता है | Delhi के Sarojini Nagar, Lajpat Nagar, Palika Market और Kamla Nagar Market समेत कई इलाकों में रात होते ही मर्दों की जिस्मफरोशी के धंधे की मार्केट सज जाती है| Delhi ke is market me adult class se से संबंध रखने वाली महिलाएं आकर मर्दों की बोली लगाती है |

ऐसे तय होती है मर्दों की कीमत

जिस्म के खरीदारों की है यह पोस इन इलाको की सड़कों और गलियों तक ही सीमित नहीं है | इनके लिए पब- डिस्को और Coffee House me option है | Gigolo ko book karne ka kamm high profile club – pub or coffee house me bhi hota hai | कुछ घंटों के लिए Gigolo ki booking की कीमत 1800 रुपए से 3000 रूपय और Full night के लिए ₹8000 तक में डील होती है | यहीं नहीं गठीले और six pack abs वाले मर्दों की कीमत करीब ₹15000 तक होती है |

यहां डीलिंग का काम पूरी तरह से सिस्टेमेटिक होता है | कमाई का 20% हिस्सा बिकने वाले मर्द को अपनी संस्था को देना होता है जिसे वह जुड़ा हुआ होता है | यही वेश्यावृत्ति वाली कहानी है, कुछ  ने इसे अपना प्रोफेशन बना लिया है तो कुछ मजबूरी में इस दलदल में है | जानकारी के मुताबिक, इसमें Engineering and medical की तैयारी करने वाले Student सबसे ज्यादा है |

पहचान के लिए जिगोलो रुमाल और गले में पट्टे बांधते हैं उइसे उनकी पहचान होती है | जिगोलो की डिमांड उनके गले में बंधे पट्टे पर निर्भर होती है |

कई ऐसे Organisation भी होती है Jaha in gigolo ki training hoti hai | ट्रेनिंग में महिलाओं से कैसे बात की जाए, उन्हें किस तरह से संतुष्ट किया जाए, आधी बातें बताई जाती है | बता दे की कई समलैंगिक भी gigolo ko को हायर करते हैं | कई Gigolo तो बहुत पढ़े-लिखे हैं इनमें Engineering and medical समेत Competition Exam की तैयारी करने वाले Student सबसे ज्यादा है | युवाओं के जिस्म के सोदेबाजी का काम बेहद प्लान तरीके से होता है, यही वजह है की कमाई का 20 प्रतिशत हिस्सा उन्हें अपनी संस्था को देना होता है जिनसे यह जुड़े हुए हैं |

एक सर्वे की रिपोर्ट के मुताबिक, साल 1992 में महज 27 प्रतिशत Sex worker hi condoms ka use karte the लेकिन साल 2011 में यह आकड़ा बडकर 86 प्रतिशत हो गया | इस रिपोर्ट के मुताबिक जितनी तेजी से मर्दों की जिस्मफरोशी बढ़ रहा है उतनी तेजी से उनमें एड्स से संबंधित जानकारियां भी बढ़ रही है | Gigolo ka karobar delhi me khub badh rha hai yaha Degree college ke boys जिस्म कारोबार में लिप्त हो रहे हैं |

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह [email protected] पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comment section

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.