Jan Sandesh Online hindi news website

फरवरी के पहले हफ्ते में हो सकता है योगी मंत्रिमंडल का विस्तार, 6 नये चेहरे हो सकते हैं शामिल

0

लखनऊ. अपने कार्यकाल के आखिरी साल में योगी सरकार (Yogi Government) मंत्रिमंडल में अंतिम और महत्वपूर्ण फेरबदल (Cabinet Expansion) करने की तैयारी है. मिल रही जानकारी के मुताबिक फरवरी के पहले हफ्ते में योगी मंत्रिमंडल के विस्तार की तैयारी है. आखिरी फेरबदल में योगी मंत्रीमंडल में करीब आधा दर्जन नए चेहरे शामिल हो सकते हैं. यही वजह है कि बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह शुक्रवार को दिल्ली में केंद्रीय नेताओं से मुलाकात करेंगे. इस मुलाक़ात में मंत्रिमंडल में शामिल होने वाले नए चेहरों के नाम पर मुहर लग सकती है. मौजूदा मंत्रिमंडल में शामिल कुछ लोगों को मंत्री पद से हटाकर संगठन की जिम्मेदारी दी जा सकती है. मंत्रीमंडल विस्तार में जातीय और क्षेत्रीय समीकरणों को भी ध्यान में रखा जाएगा।

और पढ़ें
1 of 571

गौरतलब है कि पिछले दिनों बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा भी लखनऊ पहुंचे थे. उन्होंने मंत्रिमंडल और संगठन में फेरबदल को लेकर चर्चा भी की थी. कहा जा रहा है कि एमएलसी चुनाव सम्पन्न हो चुका है. लिहाजा त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव से पहले मंत्रिमंडल विस्तार कर जातीय व क्षेत्रीय समीकरण साधने की तैयारी है. इतना ही नहीं मंत्रीमंडल से कुछ मंत्रियों को हटाकर संगठन में भेजने की तैयारी है ताकि पंचायत चुनाव और अगले वर्ष होने वाले विधानसभा चुनाव में सभी समीकरणों को दुरुस्त किया जा सके.

पूर्व आईएएस एके शर्मा को मिल सकती है अहम जिम्मेदारी

कहा जा रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के करीबी पूर्व आईएएस एके शर्मा के एमएलसी बनने के बाद उन्हें योगी मंत्रीमंडल में शामिल किया जा सकता है. सूत्रों बताते हैं कि आने वाले समय में पांच राज्यों तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल, असम, पुडुचेरी, केरल में चुनाव है जिसमें एक स्टार प्रचारक के रूप में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की महत्वपूर्ण भूमिका रहने वाली है. इन राज्यों में अप्रैल में चुनाव हो सकता है, इसलिए उससे पहले उत्तर प्रदेश सरकार में पूर्व नौकरशाह अरविंद कुमार शर्मा को ‘मंत्री’ मुख्यमंत्री कार्यालय बनाया जा सकता है.

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह [email protected] पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comment section

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.