Jan Sandesh Online hindi news website

भ्रष्टाचार के जंजाल से कितना मुक्त हुआ भारत 

0

भ्रष्टाचार एक अहम मुद्दा हैं जो हर एक देश को कमज़ोर बना देता हैं। जिस देश में भ्रष्टाचार होता हैं वो देश कभी भी तरक्की के रास्ते में अग्रसर नहीं हो पाता हैं। इसका अगर सीधा मतलब समझ ले तो भ्रष्टाचार आपके देश की अर्थव्यवस्था, नौकरियाँ और इज़्ज़त को भारी नुकसान पहुँचाता हैं। इसलिए हर देश चाहता हैं कि वो भ्रष्टाचार मुक्त देश बने और अपनी तरक़्क़ी से दुनिया को दिखा सके कि हमारा देश एक शक्तिशाली देश हैं। इसी क्रम को आगे बढ़ाने के लिए भारत देश भी जी तोड़ मेहनत कर रहा हैं क्योंकि एक समय यहाँ हालात ऐसी थे कि कोई भी काम हो चाहे सरकारी या निजी संस्थाएं हों हर जगह बस भ्रष्टाचार नाम की गूँज सुनाई देती थी। हालात आज भी ज्यादा अच्छे नहीं हुए हैं पर फिर भी भारत जैसे प्रभावशाली देश ने भ्रष्टाचार मुक्त भारत में काफी अच्छे कदम उठाएं हैं।

हम सबको पता हैं भारत दुनिया का सबसे बड़ा और शक्तिशाली देश हैं हर जगह भारतीय बस्ते हैं और पूरी दुनिया भारत के लोगों की काबिलियत की मुरीद हैं। यहाँ scientist, इंजीनियर, astronaut, मजबूत defense, doctors, और हर तरह के ऐसे होनहार काबिल लोग मिलेंगे जिन्होंने विश्वभर में अपने भारत देश का नाम रोशन किया हैं। पर जब भारत देश पे उंगलियाँ उठती थी कि यहाँ तो भारत में भ्रष्टाचार से पूरा देश लिप्त हैं तो 130 करोड़ जनसंख्या के सीने पे खंजर जैसा अभाव पड़ता था। हर जगह एक नकारात्मक इमेज बनती जा रही थी जिसको मिटाने के लिए कुछ मजबूत और ठोस कदम उठाने थे। 

भ्रष्टाचार के जंजाल से कितना मुक्त हुआ भारत 

2013 माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने जब सत्ता संभाली तो देश में ख़ुशियों की लहर से उठ गई मानों हर जगह बस दीवाली ही हो गयी हो, क्योंकि उन्होंने एक दृढ़ संकल्प लिया था जिसके तहत उनको पूरे भारत को भ्रष्टाचार मुक्त बनाना हैं। यह काम काफी मुश्किल था पर फिर भी इसको मोदी जी की सरकार ने बखूबी किया। नोट बंदी, कोल ब्लॉक, स्पेक्ट्रम, और अन्य संस्थाओं की नीलामी में पारदर्शिता और एक निति प्रणाली अपनाई गई। यहीं नहीं स्विस बैंक में भारत के कुछ गलत भ्रष्टाचारी खातों को बंद करवा के मोदी जी की सरकार ने भ्रष्टाचार मुक्त भारत का एक नया अध्याय जोड़ने का कार्य किया। भ्रष्टाचार शब्द कोई रातों रात या सरकारी संस्थाओं से नहीं उत्पन्न हुआ यह हमारे दिए गए हुए उन कार्यो का ही नतीजा हैं जिसके लिए हमने रिश्वत या घूस देकर करवाने की कोशिश की। यह भी एक सच्च हैं कि भ्रष्टाचार मुक्त भारत बनने के लिए हमारी मेहनत सरकार से काफी ज्यादा हैं क्योंकि हम ही आसपास ऐसे घूसखोरों को पनाह देते हैं और जब कोई रिश्वत लेता हैं तो उसको नज़रअंदाज़ करके भूल जाते हैं रिश्वत देना और रिश्वत लेना दोनों ही कानूनी जुर्म हैं। 

और पढ़ें
1 of 3

यह बात सच्च हैं की कीचड़ एक दिन में साफ़ नहीं होता और जब तक हम अंदर से पूरी तरह ईमानदारी का रास्ता नहीं अपनाएंगे तबतक भ्रष्टाचार की दल दल में हमेशा ही धँसते रहेंगे। कोई भी सरकार तब तक कोई कार्य में सफल नही हो सकती जबतक जनता का पूर्ण समर्थन ना मिल जाए और यह तो भ्रष्टाचार हैं इसमें तो हम्हे सबसे पहले खुद देखना हैं कि अगर कोई काम जरूरी हैं तो उसको पूरा करने के लिए अगर कोई आपसे घूस या फिर रिश्वत माँग रहा हैं तो उस इंसान के खिलाफ कार्यवाही की जाए ताकि वो दोबारा ऐसी गलती ना करे। मोदी जी ने हमेशा यह कहाँ हैं और यह नियम भी लागू किया हैं कि अगर कोई रिश्वत लेते हुए पकड़ा जाये तो उसपर कड़ी कार्यवाही हो परंतु फिर भी हम अपनी ही जड़ो को खोखला कर रहे हैं क्योंकि भारत में अगर भ्रष्टाचार खत्म नहीं हुआ तो हम कभी भी विकसित देश नहीं बन पाएंगे।

 

भारत सरकार ने सारे सरकारी कामों में जैसे की pan कार्ड बनाना, आधार कार्ड बनाना, बैंक अकाउंट खुलवाना, पुलिस complaint करवाना, इत्यादि हर कामों में digital उपकरणों या फिर हेल्पलाइन नंबर की सुविधा उपलब्ध करवाई हैं फिर भी आप इन कामो के लिए अगर घूस या रिश्वत देंगे तो आप भी गुनाहगार होंगे क्योंकि जो रिश्वत माँगेगा वो तो नहीं बचेगा पर आप खुद को भी फसा लोगे। इसलिए सरकार का साथ देकर ऐसे घूसखोरों को सख्त से सख्त सज़ा दिलवाने का कार्य करे और हमारे देश को भ्रष्टाचार मुक्त भारत बनाए।

यह हमारी मेहनत की कमाई है ना जाने कितने लोग खून पसीना एक करके रात दिन मेहनत करके चंद रुपये कमा पाते हैं पर जब कोई इन्हीं पैसों से रिश्वत ले कर उसी पोस्ट पे रह कर आपसे अमीर बन जाता हैं तो शायद वो दर्द हम शब्दों में बयान नहीं कर सकते। वो किसी प्रकार की ईर्षा नहीं होती वो आपका मनोबल गिरा देती हैं कि हम मेहनत करते हैं तब जाके दो वक़्त कि रोटी कमा पाते हैं और कई लोग रिश्वत के पैसों से अमीर बन गए हैं। यही नहीं भ्रष्टाचार करते वक़्त आप कई ज़िंदगी बर्बाद करते हैं एक जो रिश्वत लेकर घूसखोरों को बढ़ावा देना, खुद को अपनी नज़रों में गिरा देना और आने वाली नई पीढ़ी को अंधकार में धकेल देना।

मैं समस्त देशवासियों से बस यहीं कहना चाहूँगा कि भारत सरकार का साथ दे और हमारे देश को भ्रष्टाचार मुक्त भारत बना के नई ऊंचाई तक ले जाए, यह आत्मनिर्भर भारत हैं इसने गरीबी, ग़ुलामी, नफ़रत सब झेली हैं और इन सब चीज़ो से पूरी निष्ठा और ईमानदारी से मुकाबला किया हैं तो इसी तरह भ्रष्टाचार जैसे गंदे वायरस को हमारे देश से निकाल फेंकने में भारत सरकार की मदद करे और अपने आसपास होने वाले गलत कामों की रिपोर्ट दर्ज़ करवाए। अगर कोई रिश्वत या घूस ले रहा हो आपसे या आपके किसी अपने से या कोई भी अनजान व्यक्ति से तुरंत अपनी आवाज़ बुलंद करके उनके खिलाफी कार्यवाही करे।

यह देश हमारा है यहाँ की हर एक फ़िज़ा में सिर्फ अमन, शांति और ईमानदारी होनी चाहिए तभी हमारा देश नए ज़माने का आत्मनिर्भर भारत बन सकेगा। जब तक हमारे अंदर देश के प्रति यह भावना नहीं होगी की भ्रष्टाचार कितनी बुरी बीमारी हैं तब तक हम भ्रष्टाचार मुक्त भारत नहीं बना पाएंगे तो आज ही सरकार की मुहिम के साथ जुड़े और भ्रष्टाचार मुक्त भारत बनाएं… सावधान रहे अपने आसपास सफाई रखे और भारत सरकार की भ्रष्टाचार मुक्त वाली मुहिम पे उनका भरपूर साथ दे।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह [email protected] पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comment section

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.